Education

शंकर भगवान किस जाति के थे? | shankar bhagwan kis jati ke the

shankar bhagwan kiski puja karte the | shankar bhagwan kis jati se aate hain

नमस्कार दोस्तों, शंकर भगवान का हिंदू धर्म के अंतर्गत काफी बड़ा महत्व है तथा इनको हिंदू धर्म के अंतर्गत काफी माना जाता है। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि शंकर भगवान किस जाति के थे , यदि आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है, तथा इसके बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए इच्छुक हैं, तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं, कि शंकर भगवान किस जाति के थे, इसके अलावा हम आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी इस पोस्ट में शेयर करने वाले हैं। तो ऐसे में आज का यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाला है, तो इसको अंत तक जरूर पढ़िए।

शंकर भगवान किस जाति के थे? | shankar bhagavaan kis jaati ke the?

दोस्तों बहुत ही कम लोगों को इसके बारे में जानकारी होती है कि शंकर भगवान किस जाति के थे, यदि आपको भी इस विषय के बारे में कोई जानकारी नहीं है तथा अब इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं कि कई ग्रंथों के अंतर्गत यह कहा गया है, कि शंकर भगवान बिंद जाति के थे। हालांकि इस बात की पूरी तरह से पुष्टि नहीं की गई है कि शंकर भगवान किसी जाति के थे, लेकिन कई अलग-अलग ग्रंथों में शंकर भगवान की जाति अलग-अलग बताई गई है। लेकिन आज के समय अधिकांश जगह यही मान्यता है कि श्री शंकर भगवान बिंद जाति के थे।

शंकर भगवान कौन है? | shankar bhagavaan kaun hai?

शंकर भगवान किस जाति के थे? | shankar bhagwan kis jati ke the

शंकर भगवान का नाम हिंदू धर्म के प्रमुख देवी देवताओं की सूची के अंतर्गत आता है, शंकर भगवान भगवान शिव का ही दूसरा नाम है, जिनको शंकर, शिव, महादेव आदि के अलावा कई अलग-अलग नामों से जाना जाता है। आज के समय शंकर भगवान की हिंदू धर्म के अंतर्गत काफी बड़ी मान्यता है, तथा लगभग हर हिंदू धर्म का व्यक्ति शंकर भगवान की पूजा करता है तथा उसके लिए शंकर भगवान की काफी बड़ी मान्यता है।

शंकर भगवान के माता पिता कौन थे? | shankar bhagavaan ke maata pita kaun the?

यह भी दोस्तों आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है कि शंकर भगवान के माता पिता कौन थे, तो आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं, कि अलग-अलग ग्रंथों में यह कहा गया है, कि शंकर भगवान की माता जी का नाम श्रीमती दुर्गा देवी था, और शंकर भगवान के पिता का नाम श्री सदाशिव था।

Also read:

आज आपने क्या सीखा

तो आज भी इस आर्टिकल के माध्यम से आपने जाना की शंकर भगवान किस जाति के थे, हमने आपको इस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी दी है। इसके अलावा हमने आपको शंकर भगवान से जुड़ी अन्य जानकारियां भी इस पोस्ट के माध्यम से शेयर की है, जैसे कि शंकर भगवान कौन है शंकर भगवान की जाति क्या है, शंकर भगवान के माता-पिता का क्या नाम है।

इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी को देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई है तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया सीखने को मिला है। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई तो, इसे सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें, तथा नीचे कमेंट में इस विषय के बारे में हमें अपनी राय जरूर दें।

FAQ

शंकर जी का गोत्र कौन सा है?

त्रिलोक शंकर जी का गोत्र है। शंकर जी ने ब्रह्मा जी और विष्णु को देखा।

महादेव के वंशज कौन है?

उनकी अर्धांगिनी (शक्ति) का नाम पार्वती है। उनके बेटे कार्तिकेय, अय्यपा और गणेश हैं, और बेटियां अशोक सुंदरी, ज्योति और मनसा देवी हैं।

भगवान शंकर के पिता कौन थे?

उन्होंने बताया कि ब्रह्मा विष्णु और महेश की उत्पत्ति देवी दुर्गा और शिव रूप ब्रह्मा के संयोग से हुई है। यानी प्रकृति में दुर्गा हम तीनों की माता हैं और ब्रह्मा यानी काल सदाशिव हमारे पिता हैं।

शिव के कितने रूप हैं?

कई रूपों में से 25 को सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। वे तीन श्रेणियों में से एक में आते हैं – भोग, योग और वीरा। दुनिया में हर चीज का अस्तित्व और निरंतरता भगवान के लिए है। सभी जीव उससे अपना भरण-पोषण लेते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button