Education

केरल में कौन सी भाषा बोली जाती है?- kerala ka bhasha kya hai

keral mein adhiktar kaun si bhasha boli jaati hai

भारत में बहुत सारी भाषाएं बोली जाती हैं जिसमें हिंदी मुख्य हैं भारत का इतिहास बहुत पुराना है जिसकी वजह से यहां पर 19500 से भी ज्यादा भाषाएं बोली जाती है अलग-अलग शहरों में अलग-अलग भाषाएं बोलने की वजह से यहां पर भाषाओं की तो कमी नहीं है क्या आपको पता है केरल में कौन सी भाषा बोली जाती है (keral mein kaun si bhasha boli jaati hai) अगर आपको नहीं पता तो इस आर्टिकल में हम केरल में कौन सी भाषा बोली जाती है इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश करेंगे।

केरल में कौन सी भाषा बोली जाती है​?

केरल मे ज्यादा तर लोग मलयालम भाषा बोलते है जो द्रविड़ परिवार की भाषाओं में एक है। सभी विद्वान यह मानते हैं कि भाषायी परिवर्त्तन की वजह से मलयालम उद्भूत हुई। तमिल, संस्कृत दोनों भाषाओं के साथ मलयालम का गहरा सम्बन्ध माना जाता है। मलयालम का साहित्य मौखिक रूप में शताब्दियाँ पुराना है। लेकिन साहित्यिक भाषा के रूप में उसका विकास 13 वीं शताब्दी से ही हुआ था। इस काल में लिखित ‘रामचरितम’ को मलयालम का आदि काव्य माना जाता है।

मलयालम भाषा का जन्म कैसे हुआ है?

मलयालम शब्द का संधि-विच्छेद होता है: मलै (मूलशब्द:मलय- अर्थ:पर्वत) + अळम (मूलशब्द:आलयम- अर्थ:स्थान)। मलयालम भाषा को बोलने वाले लोग भारत के पश्चिमी-घाट के गर्भ में रहते हैं और इसी वजह से इस भाषा का नाम ‘मलयालम’ पड़ा है। इस शब्द का सही उच्चारण ’मलयाळम्’ होता है।

Also read: बिजली पैदा करने वाली मछली का नाम क्या है?

निष्कर्ष

आशा है या आर्टिकल आपको बहुत पसंद आया हुआ इस आर्टिकल में हमने बताया केरल में कौन सी भाषा बोली जाती है​, मलयालम भाषा का जन्म कैसे हुआ है (keral ki bhasha bataiye) के बारे मे संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगे तो आप अपने दोस्तों के साथ भी Share कर सकते हैं अगर आपको कोई भी Question हो तो आप हमें Comment कर सकते हैं हम आपका जवाब देने की कोशिश करेंगे।

Related Articles

Back to top button