Tech

karnatak ki rajdhani | कर्नाटक की राजधानी क्या है

karnataka ki rajdhani kahan hai || कर्नाटक की राजधानी क्या है

नमस्कार दोस्तों आज मैं आपको बताने जा रहा हूं कि कर्नाटक की राजधानी क्या है और कहां है? हम इस बारे में थोड़ी देर में बात करने जा रहे हैं।

कर्नाटक की राजधानी क्या है? (बेंगलुरू की जानकारी)

कर्नाटक की राजधानी क्या है? हम उन लोगों को बताना चाहेंगे कि कर्नाटक की राजधानी “बेंगलुरु है। बैंगलोर को इसी नाम से जाना जाता था, लेकिन 1 नवंबर 2014 को राज्य और केंद्र सरकार की अनुमति से इस शहर का नाम बदलकर बैंगलोर कर दिया गया है।





.
बैंगलोर यह शहर भारत का तीसरा सबसे बड़ा शहर है और 5वां सबसे बड़ा महानगर भी है। बैंगलोर इस शहर को भारत की सिलिकॉन वैली भी कहा जाता है।

आजादी के बाद मैसूर कर्नाटक की राजधानी थी। वर्ष 1831 में इसे बदलकर बैंगलोर कर दिया गया।

कर्नाटक एवं कर्नाटक की राजधानी का क्षेत्रफल एवं जनसंख्या

बैंगलोर महानगर का क्षेत्रफल और जनसंख्या में 709 वर्ग किलोमीटर यानि लगभग 274 वर्ग मील है। इसी जनसंख्या में वर्ष 2011 में हुई जनगणना के अनुसार बैंगलोर शहर की जनसंख्या 8443675 और महानगर की जनसंख्या 8499399 है, जिससे महानगर में जनसंख्या घनत्व 12000 प्रति वर्ग किलोमीटर हो जाता है।

कुल जनसंख्या के पुरुषों और महिलाओं की साक्षरता दर क्रमशः 91.01% और 84.01% है। वही लिंगानुपात 916 महिलाएं प्रति हजार पुरुषों पर है। राज्य की साक्षरता दर 87.67 प्रतिशत के करीब है।




कर्नाटक की जलवायु

कर्नाटक में चार मौसम होते हैं। जनवरी और फरवरी में सर्दी के बाद मार्च और मई के बीच गर्मी, जून और सितंबर के बीच मानसू

karnatak ki rajdhani || Newssow.com

न का मौसम और अक्टूबर से दिसंबर तक मानसून के बाद का मौसम आता है। मौसम विज्ञान की दृष्टि से कर्नाटक को तीन क्षेत्रों में बांटा गया है – तटीय, उत्तरी आंतरिक और दक्षिण आंतरिक। इनमें से, तटीय क्षेत्र में प्रति वर्ष लगभग 3,638.5 मिमी (143 इंच) की औसत वर्षा के साथ सबसे भारी वर्षा होती है, जो राज्य के औसत 1,139 मिमी (45 इंच) से कहीं अधिक है। बेलगाम जिले के खानापुरा तालुका के अमागांव में 2010 में 10,068 मिमी (396 इंच) बारिश हुई। 2014 में, उत्तर कन्नड़ जिले के सिरसी तालुका के कोकल्ली में 8,746 मिमी (344 इंच) बारिश हुई। तीर्थहल्ली तालुका में अगुम्बे और शिमोगा जिले के होसानगर तालुका में हुलिकल कर्नाटक के सबसे अधिक वर्षा वाले शहर थे, जो दुनिया के सबसे आर्द्र क्षेत्रों में से एक में स्थित थे।




राज्य में 2030 तक लगभग 2.0 डिग्री सेल्सियस (4 डिग्री फ़ारेनहाइट) गर्म होने का अनुमान है। मानसून कम वर्षा प्रदान करने के लिए तैयार है। कर्नाटक में कृषि ज्यादातर सिंचित के विपरीत वर्षा पर आधारित है, जिससे यह मानसून में अपेक्षित परिवर्तनों के प्रति अत्यधिक संवेदनशील हो जाता है। रायचुरू जिले में उच्चतम दर्ज तापमान 45.6 डिग्री सेल्सियस (114 डिग्री फ़ारेनहाइट) था। बीदर जिले में सबसे कम तापमान 2.8 डिग्री सेल्सियस (37 डिग्री फारेनहाइट) दर्ज किया गया।

कर्नाटक की राजधानी में परिवहन एवं यातायात की सुविधा

परिवहन यानि यातायात यहां हवाई, सड़क, रेल मार्ग से पहुंचा जा सकता है।

रेल मार्ग में, बैंगलोर सिटी जंक्शन रेलवे स्टेशन और यशवंतपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन बैंगलोर के दो प्रमुख रेलवे स्टेशन हैं, जहाँ से यह देश के अन्य प्रमुख और मुख्य शहरों से रेल द्वारा जुड़ा हुआ है। एक्सप्रेस ट्रेनें विभिन्न क्षेत्रों से नियमित रूप से बैंगलोर के लिए चलती हैं। इसके अलावा, बैंगलोर में एक तेज़ यातायात सेवा भी उपलब्ध है जिसे बैंगलोर मेट्रो या नम्मा मेट्रो के नाम से जाना जाता है।




सड़क मार्ग से यह सड़क मार्ग द्वारा देश के अन्य प्रमुख शहरों से राष्ट्रीय राजमार्ग अर्थात राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है। बंगलौर में कई बस टर्मिनल हैं जो अन्य शहरों से आने-जाने के लिए नियमित बस सेवाएं प्रदान करते हैं। इसके साथ ही यहां सड़क मार्ग से भी निजी वाहनों से पहुंचा जाता है।

हवाई मार्ग से, बेंगलुरु का बैंगलोर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भारत का तीसरा सबसे व्यस्त हवाई अड्डा है। यह एशिया, मध्य पूर्व और यूरोप के लिए घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानें प्रदान करता है। बैंगलोर सेंट्रल रेलवे स्टेशन से 30 किमी की दूरी पर बैंगलोर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है। देश के सभी प्रमुख शहरों जैसे दिल्ली मुंबई कोलकाता चेन्नई गोवा पुणे तिरुवनंतपुरम के लिए नियमित उड़ानें हैं। यहां से आने-जाने के लिए अंतरराष्ट्रीय उड़ानें भी भरी जाती हैं।

Faq

कर्नाटक राज्य का सबसे बड़ा बांध कौन सा है?

कर्नाटक राज्य का सबसे बड़ा बांध “तुंगभद्रा बांध” जो की 2441 मीटर और लंबाई लगभग 49.38 मीटर है।

कर्नाटक की राजधानी क्या है?

कर्नाटक की राजधानी “बेंगलुरु” है।

Related Articles

Back to top button