Education

Amnesty International का मुख्यालय कहां स्थित है?

एमनेस्टी इंटरनेशनल का मुख्यालय कहां स्थित है? | amnesty international ka mukhyalay kahan hai

नमस्कार दोस्तों, आपने अपने जीवन के अंतर्गत एमनेस्टी इंटरनेशनल के बारे में तो जरूर सुना होगा। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि एमनेस्टी इंटरनेशनल का मुख्यालय कहां पर स्थित है, (amnesty international ka mukhyalay kahan hai) यदि आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, तथा आप इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं, कि एमनेस्टी इंटरनेशनल का मुख्यालय कहां पर स्थित है, (amnesty international ka mukhyalay kahan hai)इसके अलावा इस विषय से जुड़ी अन्य जानकारियां भी हम आपको इस पोस्ट के अंतर्गत शेयर करने वाले हैं। तो इसी में आज का यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाला है तो इसको अभी तक जरूर पढ़िए।

एमनेस्टी इंटरनेशनल का मुख्यालय कहां स्थित है? (amnesty international ka mukhyalay kahan hai)

दोस्तों अक्सर कई जगह पर यह सवाल पूछा जाता है, कि एमनेस्टी इंटरनेशनल का मुख्यालय कहां पर स्थित है, जगह कई लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं होती है। यदि दोस्तों आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि एमनेस्टी इंटरनेशनल का मुख्यालय लंदन के अंतर्गत स्थित है, जोकि यूनाइटेड किंगडम का एक काफी बड़ा शहर है।

एमनेस्टी इंटरनेशनल क्या है?

एमनेस्टी इंटरनेशनल का मुख्यालय कहां स्थित है?

दोस्तों एमनेस्टी इंटरनेशनल एक अंतरराष्ट्रीय संस्था है। जिसका मुख्य उद्देश्य माननीय क्षमता तथा तथा मानव अधिकार को बढ़ावा देना तथा भेदभाव को मिटाना है। यह संस्था पूरी दुनिया भर के अंतर्गत होने वाले भेदभाव का विरोध करती है, इसके अलावा यह लगातार भेदभाव को खत्म करने का प्रयास करती है, तथा लोगों को मानवीय अधिकारों के लिए लड़ने के बारे में जानकारी देती है।

इसकी शुरुआत बेटे ने में हुई थी, उसके बाद धीरे-धीरे इस संस्था ने पूरी दुनिया भर में अपनी पहचान बना ली है, तथा आज के समय यह संस्था दुनिया में होने वाले अनेक भेदभाव के खिलाफ आवाज उठाती है। यह दुनिया में किसी भी व्यक्ति के साथ कहीं पर भी गलत हो रहा होता है तो उसके लिए यह संस्था लगातार तैयार रहती है तथा उसकी सहायता करती है।

यह एक स्वयंसेवी संस्था है तथा इसके लिए किसी भी प्रकार की सरकार तथा किसी भी प्रकार की संस्था से पैसा नहीं आता है। इसके अलावा इस संस्था की शुरुआत के पीछे का मुख्य उद्देश्य मानव अधिकारों तथा मानवीय मूल्यों को बढ़ावा देना है, तथा इस दुनिया से भेदभाव को खत्म करना है।

एमनेस्टी सरकार की आलोचना क्यों कर रही थी?

एमनेस्टी इंडिया बार-बार केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कह रही थी कि भारत में दिमाग बनाया जा रहा है। एमनेस्टी ने पिछले महीने एक रिपोर्ट में कहा था कि फरवरी में दिल्ली दंगों में मानवाधिकारों का उल्लंघन किया गया था। इस तरह की रिपोर्ट देने से पहले, एमनेस्टी ने बंगाल हिंसा, हाल ही में बांग्लादेश में हिंदुओं के नरसंहार, गणतंत्र दिवस पर लाल किले पर तथाकथित किसानों द्वारा किए गए निंदनीय कृत्य और हिंसा की सैकड़ों अन्य घटनाओं पर आंखें मूंद लीं।

वहीं, जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किए जाने के एक साल बाद अगस्त में एमनेस्टी ने हिरासत में लिए गए सभी राजनेताओं, कार्यकर्ताओं और पत्रकारों की रिहाई की मांग की थी. सामान्य इंटरनेट सेवा बहाल करने की भी मांग की गई। आशा है कि आपके पास अपने प्रश्न होंगे एमनेस्टी इंटरनेशनल का मुख्यालय कहाँ है? जवाब मिल गया है और ऐसे ही दिलचस्प लेख और खबरें पढ़ने के लिए कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें।

एमनेस्टी इंटरनेशनल और विवाद

भारत के साथ-साथ दुनिया भर के कई देश एमनेस्टी इंटरनेशनल संगठन के कामकाज से परेशान हैं। जिसमें रूस, मिस्र और इस्राइल समेत 40 देश शामिल हैं। और उन देशों ने भी इस संस्था के खिलाफ सख्त कानून बनाए। इसके अलावा अमेरिका जैसे ताकतवर देश ने भी इस संस्था को अपनी घरेलू राजनीति में दखल देने से रोकने के लिए सख्त कानून बनाए हैं। वही भारत सरकार भी इस संस्था को घरेलू राजनीति में दखल देने से रोकने के लिए सख्त कानून बना रही है।

ये संस्थाएं कभी मानवाधिकारों के हनन के नाम पर तो कभी अधिकारों के हनन के नाम पर सरकार का विरोध करती हैं. और इस संस्था को विदेशों से धन प्राप्त होता है। भारत सरकार ने एनजीओ की आड़ में इस संस्था की अवैध फंडिंग और अवैध कारोबार को बढ़ावा देने के संदेह में संस्थान के कार्यालय और राष्ट्रपति के घर पर छापा मारा था.

तब संगठन खुद पर उठे सवालों का जवाब देने की बजाय बोरियों के साथ भारत छोड़ने की बात कर रहा था. इस प्रकार एमनेस्टी इंटरनेशनल का इतिहास विवादों से भरा है। कभी-कभी इस अंतरराष्ट्रीय संगठन को शांति का नोबेल पुरस्कार मिलता है। कभी-कभी सरकारों द्वारा इसके कामकाज पर संदेह जताया जाता है और सख्त कार्रवाई भी की जाती है।

Also read:

आज आपने क्या सीखा

तो आज के इस आर्टिकल के अंतर्गत आपने जाना की एमनेस्टी इंटरनेशनल का मुख्यालय कहां पर स्थित है (amnesty international ka mukhyalay kahan hai)हमने आपको उसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी है। इसके अलावा हमने आपको एमनेस्टी इंटरनेशल से जुड़े कुछ अन्य जानकारियां भी दी है कि एमनेस्टी इंटरनेशनल क्या है, इसकी शुरुआत कहां पर हुई थी तथा इसकी शुरुआत के पीछे क्या उद्देश्य है।

दोस्तों हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से इस विषय से जुड़ी संपूर्ण जानकारी को देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई है, तथा आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया सीखने को मिला है। अगर यह जानकारी आपको पसंद आए तो इसे सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें, तथा आप इस विषय के बारे में अपनी राय हमें कमेंट में बता सकते हैं।

FAQ

एमनेस्टी इंटरनेशनल कितने देशों में काम करता है?

एमनेस्टी इंटरनेशनल 150 से अधिक देशों और क्षेत्रों में 10 मिलियन से अधिक लोगों का एक वैश्विक आंदोलन है जो मानवाधिकारों के हनन को समाप्त करने के लिए अभियान चलाते हैं।

एमनेस्टी इंटरनेशनल की भूमिका क्या है

एमनेस्टी राजनीतिक कैदियों की रिहाई की मांग से लेकर मानवाधिकारों के पूर्ण स्पेक्ट्रम को बनाए रखने तक विकसित हुई है। हमारा काम लोगों की रक्षा करता है और उन्हें सशक्त बनाता है – मृत्युदंड को समाप्त करने से लेकर यौन और प्रजनन अधिकारों की रक्षा करने और भेदभाव से लड़ने से लेकर शरणार्थियों और प्रवासियों के अधिकारों की रक्षा तक।

एमनेस्टी इंटरनेशनल का मुख्यालय कहां है?

मुख्यालय लंदन में हैं। संगठन की स्थापना ब्रिटिश अटॉर्नी पीटर बेन्सन के प्रमुख प्रयासों के माध्यम से की गई थी, जिन्होंने हंगरी, दक्षिण अफ्रीका और स्पेन में राजनीतिक कैदियों का बचाव किया था, और जिन्होंने मानवाधिकारों की उन्नति के लिए एक सामूहिक एजेंसी स्थापित करने की मांग की थी।

एमनेस्टी इंटरनेशनल की स्थापना कब की गई थी?

28 May 1961, London, United Kingdom (28 मई 1961, लंदन, यूनाइटेड किंगडम)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button