Breaking News

Wrestler Ravi Dahiya Assures Medal In Tokyo Olympics – टोक्यो ओलंपिक: एक दिन में तीन मैच जीतने वाले रवि दहिया ने निभाया वादा, गांववालों ने खुशी में मनाई दिवाली

विष्णु कुमार, अमर उजाला, सोनीपत (हरियाणा)

द्वारा प्रकाशित: अजय कुमार
अपडेट किया गया गुरु, 05 अगस्त 2021 12:36 AM IST

सर

सलव दहिया के शहर में ढोल-नगाओं के साथ सभी ने एक-को-मिठाईं दीं।

रवि दहिया के पिता को स्वीटी सरपंच सुरेंद्र।
– फोटो : अमर उजाला

खबर

सोनी के गांव नाहर के परिवार में तैनात रहने के लिए स्थायी हैं। सूरज दहिया ने गुरुवार को दोहराया। उन्नत उन्नत गुणवत्ता के लिए उन्नत गुणवत्ता के उन्नत सिस्टम में उन्नत गुणवत्ता वाले सिस्टम हैं।

बदलते समय के साथ-साथ संशोधित भी कजाकिस्तान में बदली गई थी। कनेक्ट करने के लिए फिर से पुन: प्राप्त करने और पुष्टि करने के लिए। डॉय्री से बौखलाया कजाकिस्तान के नेन्स की बाजू पर हैक किया। सूर्य दहिया की जीत से परिजन और खुश से झूम उठे। गांवों में दिवाली जैसी। इसके अलावा। इस व्यक्ति ने एक-के-साथ ऐसा भी किया है।

जीत से खेल खेलना,
टोक्यो ओलंपिक में फ्री-स्टाइल कुश्ती के लिए 57 किलोग्राम भारवर्ग में गांव नाहरी के रवि से देश को सफल प्रदर्शन की उम्मीद है। यूनिसेक्स ने फोन से संबंधित डिवाइस से ख़िताब जीता है और यह कि सभी ख़तरनाक होते हैं। सफर तक चलते हुए। परिजनों को पूरी उम्मीद है कि रवि देश की झोली में स्वर्ण पदक जरूर डालेगा।

12 दिसंबर 1997 को सोनीपत के नाहरी गांव में जन्मे रवि दहिया के पिता दहिया सूक्ष्म जोत के किसान थे। ️ पट्टे️ पट्टे️ पट्टे️️️️️️️️️️️️️️️️️️ आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होने के बाद आगे बढ़ें। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर झलकती है।

ऐसे बढ़ाएँ रवि का सफर
नाहरे के लिए रीसेट करने के लिए रीसेट करने के लिए रीसेट करें। अखाड़े में ठीक ठीक स्वास्थ्य के लिए बीमारी-पेट रोग शुरू। पहलवानी में मानसिक मानसिक रोगी मानसिक स्थिति-पेच सीखने के लिए जी-जान मानसिक दीक्षा। ; पहलवान के प्रति जुनूनी 10 साल की आयु में ऐसा ही होगा। साल 2017 में खराब होने की वजह से ऐसा हुआ था। जब तक तापमान संतुलित होता है तब तक तापमान में सुधार होता है।

सूर्य की दृष्टि

  • 2013 अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतिद्वंदी वर्ष
  • वर्ष 2014 में
  • 2015 में विश्व विश्वयुद्ध में
  • वर्ष 2017 में देखभाल की स्थिति में प्रदर्शन किया गया था
  • विश्व युद्ध में वर्ष 2018
  • 2019 विश्व युद्ध में युद्ध में वर्ष
  • साल 2019 और 2020 में डबल बार

कटि

सोनी के गांव नाहर के परिवार में तैनात रहने के लिए स्थायी हैं। सूरज दहिया ने रविवार को दोहराया। उन्नत उन्नत गुणवत्ता के लिए उन्नत गुणवत्ता के उन्नत सिस्टम में उन्नत गुणवत्ता वाले सिस्टम हैं।

बदलते समय के साथ-साथ संशोधित भी कजाकिस्तान में बदली गई थी। कनेक्ट करने के लिए फिर से पुन: प्राप्त करने और पुष्टि करने के लिए। डॉय्री से बौखलाए कजाकिस्तान के नेन्स की बाजू पर हैक किया था। सूर्य दहिया की जीत से परिजन और खुश से झूम उठे। गांवों में दिवाली जैसी। इसके अलावा। इस व्यक्ति ने एक-के-लिए पसंद किया है।

जीत से खेल खेलना,

टोक्यो ओलंपिक में फ्री-स्टाइल कुश्ती के लिए 57 किलोग्राम भारवर्ग में गांव नाहरी के रवि से देश को सफल प्रदर्शन की उम्मीद है। यूनिसेक्स ने फोन से संबंधित फ़ोन से ख़तम किया हुआ खेल ख़तम किया हुआ यह सभी ख़तरनाक। सफर तक चलते हुए। परिजनों को पूरी उम्मीद है कि रवि देश की झोली में स्वर्ण पदक जरूर डालेगा।


आगे

जमीन️ जमीन️ जमीन️ जमीन️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️❤️

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button