Panchaang Puraan

weekly sapthaik numerology horoscope rashifal future predictions by date of birth ank rashifal ank jyotish lucky numbers – Astrology in Hindi – इन तारीखों में जन्मे लोग इस सप्ताह रहेंगे दुख

ज्योतिष की तरह अंक ज्योतिष से भी जातक के भविष्य, व्यक्तित्व और पर्सनैलिटी का पता चलता है। जिस तरह के हर नाम के आकार के आंकड़े हर तरह के अंक होते हैं, अंक ज्योतिष में होते हैं। आपकी तारीख की तारीख, और वर्ष को अंक जोड़ने और अंक अंक होंगे, जो कि आपके भाग्य के अंक होंगे। उदाहरण के लिए जन्म के मूलांक 2, 11 और 20 तारीख को जन्म के मूलांक 2 होंगे। खराब होने के लिए…

मूलांक 1- आपके मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। लागत कम करना महत्वपूर्ण है। आप जिस तरह से इस सपने को पूरा करने की कोशिश करेंगे। अन्य-अधूरी जानकारी को स्वीकार करें चुनें। अच्छी तरह से ठीक करने के लिए, अच्छी तरह से दर्ज करें। यह सप्ता कारबार के लिलाज से यह है कि लेकरन लेनदेन में सहारा बर्तने की जरूरत है। किसी मित्र को खराब कर सकता है।

मौसम चमकने वाले इन राशियों का, बरगद सूर्य, मंगल की विशेष कृपा

मूलांक 2- जांच पूरी होने पर, रुकी हुई राशि। वाद-विवाद, एक प्रकार की भिन्न से। सभी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। पूरी तरह से ठीक, पुराने रोग समाप्त हो गए। अर्थव्यवस्था से खराब होने की स्थिति में। आय मुद्रा सामान्य। परिवार के भाग्य में वृद्धि होती है। परीक्षार्थी सफल होने की संभावना है।

मूलांक 4- सही सही। अर्थव्यवस्था को नियंत्रित करने के लिए, यह भी ठीक है। अटैक के दर्द से प्रभावित है। नृण्य लेने में जलदबाजी नही करने के लिए, वरिष्ठता से सल्लाह लेकर ही कार्य करने के लिए। विशेष रूप से महिला आपके मित्र संचार में वृद्धि कर सकते हैं। आप अपना मनोभ्रंश खोएं।

इन 4 युगों के जीवन में संकट की स्थिति, बजरंगबली और सनदेवी पौधे रक्षक

मूलांक 7- इस बीमारी की रोकथाम के लिए वापस ले लिया गया। अपने काम पर ध्यान दें, परिश्रम, लाभ प्राप्त करें। व्यवस्था के समाधान के लिए व्यवस्थाएं। भविष्यवाणी से अधिक सफलता। कला के मामले में। व्यापार के लिए अच्छा है। स्वस्थ हैं, ऑफिस में मान में वृद्धि, प्रसन्नता होगी। अर्थव्यवस्था लाभ की उम्मीद है। शुभ समाचार मिल रहा है।

(इस जानकारी में जानकारी शामिल है।)

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button