States

Water Logging In Ayodhya After Heavy Rain Ann

Water Logging in Ayodhya: अयोध्या (Ayodhya) में 24 घंटों की बारिश (Rain) ने विकास और प्रशासनिक व्यवस्थाओं की पोल खोल कर रख दी है. अयोध्या में हर तरफ हर क्षेत्र में जल भराव (Water Logging) हुआ है. जलवानपुरा कॉलोनी रेलवे स्टेशन (Railway Station) शहर के सभी प्रमुख मार्ग जलमग्न हैं, रेलवे विभाग के कर्मचारियों पर आसपास के कॉलोनी के वासियों ने उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कहा कि, रेलवे विभाग ने उनकी कॉलोनियों में पंप के जरिए पानी छोड़े हैं, जिसकी वजह से अब कालोनियों में भी जल भराव हुआ है और इतना ही नहीं, स्थानीय कॉलोनी वासियों का दावा है कि, जलभराव की वजह से कई लोग सर्पदंश का शिकार भी हुए हैं, जिनका इलाज चल रहा है.

रेलवे स्टेशन के आसपास भरा पानी 

अयोध्या रेलवे स्टेशन जाने वाले और आने वाले लोगों को कमर भर पानी से होकर गुजरना पड़ रहा है. रेलवे स्टेशन का ये हाल तब है, जब 29 अगस्त को महामहिम राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद का अयोध्या दौरा था और रेलवे स्टेशन पर उनका भव्य स्वागत हुआ. अयोध्या रेलवे स्टेशन का रिनोवेशन राष्ट्रपति के आगमन के मद्देनजर हुआ और राष्ट्रपति के सामने अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन को मिसाल के तौर पर प्रस्तुत किया गया था.

व्यवस्थाओं की पोल खुली  

लेकिन 15 दिन के अंदर ही चंद घंटों की बारिश ने प्रशासनिक व्यवस्थाओं की पोल खोल कर रख दी है. आने जाने वाले श्रद्धालुओं को रेलवे स्टेशन पर कमर भर पानी में होकर गुजरना पड़ रहा है. इतना ही नहीं अयोध्या पहुंचे आसपास के जिलों के श्रद्धालु जिन्हें अभी और रुकना था, बारिश की वजह से अयोध्या में फैली अव्यवस्थाओं की वजह से वो अयोध्या से वापस लौट गए.

लौट रहे हैं श्रद्धालु 

गोरखपुर से अपने पूरे परिवार के साथ अयोध्या पहुंची महिला श्रद्धालु सीमा पांडे ने बताया कि, 11 पारिवारिक सदस्यों के साथ वह 14 सितंबर को अयोध्या पहुंची थी और अयोध्या के नया घाट क्षेत्र के यात्री निवास में रुकी थी, लेकिन भारी बारिश की वजह से यात्री निवास में भी जलभराव हो गया है, जिसके बाद वह अयोध्या रेलवे स्टेशन पहुंची हैं. जहां से वह दुबारा गोरखपुर अपने घर वापसी के लिए जा रही हैं, लेकिन अयोध्या रेलवे स्टेशन पर भी बच्चों और बड़ों को पानी से होकर गुजरना पड़ा जिसमें उनके सभी कपड़े भी भीग गए.

वहीं, आसपास के कालोनियों में भी जलभराव हो गया है. लगभग 20 वर्षों से अयोध्या में रह रहे लोगों का दावा है कि इससे पहले कभी भी इस तरीके का जलभराव नहीं हुआ था. रेलवे स्टेशन के निकट कुटिया कॉलोनी में भी जलभराव की समस्या है और इतना ही नहीं स्थानीय लोगों का दावा है कि वहां पर कई लोग जलभराव के कारण सर्प दंश का भी शिकार हुए हैं.

घर में घुस रहे हैं सांप-बिच्छु

जल वानपुरम कुटिया कॉलोनी के निवासी प्रवीण कुमार ओझा ने बताया कि, पिछले कई वर्षों से यहां पर कभी भी जलभराव की समस्या नहीं थी. रेलवे स्टेशन पर हुए जलभराव के विकास के लिए पानी को पंप उसे इस तरफ छोड़ा जा रहा है जिसके वजह से कॉलोनी में भी पानी भर रहा है. यहां तक की अब सांप और बिच्छू घरों में घुस रहे हैं. स्थानीय लोगों का दावा है कि डर के मारे रात भर कॉलोनी का कोई भी व्यक्ति सोया नहीं है, लगभग 60 से 70 परिवार रहते हैं जिनके घरों में कॉलोनी में पानी आया है.

कॉलोनी के निवासियों ने बताया कि लगभग 20 वर्षों से यहां पर आ रहे हैं और ऐसा जलभराव कभी नहीं हुआ स्थानीय लोगों ने रेलवे स्टेशन प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि अपना विकास कर रहे हैं लेकिन आसपास के लोगों का विनाश कर रहे हैं सांप और बिच्छू के वजह से रातभर कॉलोनी वासी सो नहीं पाए हैं रेलवे विभाग लोगों ने कॉलोनी में 7 पाइप लगाकर के पानी को कालोनी की तरफ छोड़ दिया है साथ ही स्थानीय लोगों का दावा है कि 3 लोग सर्प दंश का शिकार हुए हैं जिन का इलाज चल रहा है.

ये भी पढ़ें.

Chardham Yatra 2021: चारधाम यात्रा के लिए आने वाले यात्रियों को इस वेबसाइट पर करना होगा रजिस्ट्रेशन

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button