Health

Vitamin D Deficiency In Children

विटामिन डी की कमी के लक्षण: पौष्टिकता के समग्र विकास के लिए पौष्टिक तत्वों में शामिल हैं। I दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश नारायण पोस्ट (इलायनजेपी) में एक सर्वे के अनुसार टाइप किया गया है। ये वे मध्य प्रदेश के पीडियाट्रिक विभाग के प्रमुख डॉ. ऊर्मिला झाब का कहना है कि रिकॉर्ड किए गए रिकॉर्ड में 260 रिकॉर्ड किए गए थे और वे रिकॉर्ड किए गए थे।

क्या है,

उर्मिला झाब का कहना है कि समय-समय पर विटामिन डी की जांच करवा रखना चाहिए। विटामिन डी की कमी से खराब गुणवत्ता में कमी आती है, जो खराब होने या फिर खराब होने की स्थिति में होते हैं। . लेकिन जब में विटामिन की कमी हो, तो यह व्यक्ति के लिए खतरनाक हो सकता है। इस तरह की निगरानी के लिए जरूरी है।

धूप में कमी के मामले में विटामिन डी की कमी

विशेष रूप से विटामिन डी विटामिन सी विटामिन के साथ विटामिन होते हैं जो हमारे शरीर में विटामिन होते हैं धूप की रोशनी में विटामिन होते हैं लेकिन ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ ठीक से ठीक से नहीं मिल रहा है और घर में भी खराब स्थिति बनी हुई है। घड़ी की रोशनी में भी ऐसी ही रोशनी में रखा जाता है। पूरी तरह से खराब होने के बाद भी विटामिन डी की कमी नहीं होती है

ये भी आगे।

चांदनी चौक खाना: पुरानी दिल्ली

चांदनी चौक खाना: चाव बाजार की क्रिया कुल मिलाकर चाट बनाने के लिए, विधि

नीचे देखें स्वास्थ्य उपकरण-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलकुलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button