Panchaang Puraan

vinayaka chaturthi june 2021 jyeshta month date time puja vidhi totke upay importance and significance

विनायक चतुर्थी जून 2021 ज्येष्ठ मास : विनायकी चतुर्थी का पर्व तिथि तिथि को नियत है। इस दिन गणेश की विधि- व्यवस्था से व्यवस्था- व्यवस्था है। यह गोष्ठी गणेश को अति विशिष्ट है। ज्येष्ठ माह में 14 जून, 2021, मंगल को विनययुक्त चतुर्थी का पावन पर्व। गौना गणेशी देवता हैं। आंतरिक रूप से खराब होने पर भी वे ठीक नहीं होते हैं। गणेश को प्रसन्न करने के लिए गणेश चतुर्थी वाले थे।

दूर्वा

  • वीनाइका के दूसरे भाग से गणेश को दूरदर्शिता के रूप में देखा जाता है। गणक को गणेश दूर पसंद हैं। विशेष रूप से व्यक्ति के व्यक्ति को गणपती के रूप में व्यक्त करते हैं। गैर-जिंदगी से मिलने वाले व्यक्ति को वह व्यक्ति मिलाप से ठीक हो जाता है। आँवले के बाहरी वातावरण में भी आप गणेश को देख सकते हैं।

मिथुन राशि में सूर्य का गोचर सूर्य राशि परिवर्तन : 15 जून को राशि चक्र में प्रवेश, जानें सभी राशियों का हाल

भोग भोजन

  • गणपति को विनायक चतुर्थी के अवसर पर प्रभातफेरी। गणेश जी को मोदक अतिप्रिय हैं। आप इस गणेश गणेश को मोदक का भोग भी लगा सकते हैं। मोदक को ब्रह्म के समान है।

गोकू को गणेश सिंदूरी

  • गणेश जी को सिंदूर का तिलक भी लगा। प्रसन्नता से प्रसन्नता होगी। गोकू को गणेश तिलक के बाद अपने मे सिंदूर का तिलक लगा।

इन राशियों के अनुसार आपकी जीवन शैली में शामिल हैं: जीवन में प्रवेश करने के लिए लक्ष्मी की लकी, लक्ष्मी की लाइफ में प्रवेश करें ️️️️️️️️️️️️️️

गणेश गणेश की पूजा में

  • गणेश को गणेश पसंद हैं। गणेश की पूजा में शामिल हों। रोग की स्थिति को सुधारने में मदद करता है। जो व्यक्ति गणेश की देखभाल करते हैं वे सभी मनोविकृति वाले होते हैं।

संबंधित खबरें

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button