Panchaang Puraan

vinayaka chaturthi december 2021 today know puja vidhi shubh muhrat importance significance samagri ki puri list

विनायक चतुर्थी: . इस तिथि को शादी की तिथि कहते हैं। व्यवस्था से गणेश की पूजा- व्यवस्था है। गोस्वामी गणेश भगवान हैं। गणेश की पूजा की व्यवस्था किसी भी शुभ कार्य से की जाती है। गोक गणेश का एक नाम विनायक भी है। मार्ग शीर्ष रहस्य की विनायक चतुर्थी आज है। अराधना के खराब होने के तरीके के अनुसार, अराधना में सभी मनोविकृति वाले व्यक्ति होंगे। गुण मोर विनायक चतुर्थी विधि- मुहूर्त, महत्व और सामग्री की सूची…

मुहूर्त-

  • मार्ग शीर्ष, शुक्ल चतुर्थी – – 02:31 ए, दोपहर 07
  • मार्ग शीर्ष, शुक्ल चतुर्थी अंतिम – 11:40 पी एम, 07

अर्थव्यवस्था राशिफल 7 तिथि: आज्क, कन्या, वृश्चिक, धनु और मीन राशि भविष्य, संचार व नौकरी से हानिकारक का शुभ अंक

विनायक चतुर्थी पूजा विधि

  • यह जल्दी से जल्दी उठे।
  • बाद में घर के मंदिर में सफाई कर दीप प्रज्वलित करें।
  • दीप प्रज्जित के बाद गणेश कावल गंगा जल से जलभिषेक करें।
  • सुंदर गणेश को वस्त्र पहनाना।
  • गणेश को गणेश को सिंदूर का तिलक और दूर्वा संक्रमित।
  • गोकू को गणेश दूर्वा अतिप्रिय। जो भी व्यक्ति व्यक्तित्व को व्यक्त करते हैं वे गणेश को प्रभावित होते हैं।
  • गोकू गणेश की आरती और भोग-विलास। आप गणेश जी को मोदक, लड्डूओं का भोग लगा सकते हैं।
  • इस पावन गणेश गणेश का अधिक से अधिक ध्यान दें।
  • यदि आप व्रत करते हैं तो यह व्रत रखें।

विनायकी चतुष्कोणीय महत्व

  • इस पावन दिन का अधिक महत्व है.
  • गणेश की पूजा करने वाले गणेश की पूजा करने से मन्वांछित की उपस्थिति में प्रकाश की उपस्थिति होती है।
  • ️ व्रत️️️️️️

गुरु कृपा से आने वाले सभी सदस्यों को पूरा पूरा होने पर, सभी का पूरा होना सुनिश्चित करें

विनायक चतुर्थी पूजा सामग्री सूची

  • गणेश गणेश की प्रतिमा
  • लाल वस्त्र
  • जनेऊ
  • कलश
  • कोनी
  • पंचामृत
  • पंचमेवा
  • गंगाजल
  • रोली
  • मौली लाल

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button