Breaking News

Uttarakhand Monsoon Rainfall Update: Disaster In Uttarkashi After Extreme Rainfall – उत्तराखंड: उत्तरकाशी में बादल फटा, गदेरा उफान पर आने से दो घर ध्वस्त, कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका

सर

धार️ मूस️️ जगह️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ दबे होने की सूचना भी।

उत्तरकाशी में रात भर उफान पर रहती है ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️
– फोटो : अमर उजाला

खबर

अलार्म बजने पर यह गलत हो जाता है। उत्तरकाशी में यह देर से बाद में बदल गया और गाड़-गदेरे उन पर चला गया।

बाद फटने से गांव मांडो, निराकोट, पनवाड़ी और कंकराडी के पानी में डूबा हुआ। साथ उ । सुरक्षा विभाग की टीम ने अहीर अवर अवर अहीर, रविंद्र गणेश अहीर, रामबालक यादव पुत्री मलय कुदर्य रेस्क्यू कर बाहरी। स्थिर वातावरण में चल रहा है। खतरे के खतरे से बाहर हैं।

जानकारी के हिसाब से, Medo Village में स्थित जल में स्थित है। मकान मकान के अनुसार s भटवाड़ी देवेंद्र नेगी ने मांडो गांव में गदेरे के उफान पर आने से दुगने ही परिवार के लोगों के लिए दबे होने की एक है। खोज जारी है। बहने

️️ ने️ राव️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️
घटना की सूचना के बाद, पुष्कर सिंह धामी ने डीएम

कुमाऊं में मौसम से मिक्सी फीडिंग, पूर्णागिरी-टनकपुर मार्ग बंद, 150 मिनट, तस्वीरें…

हवा का मौसम
मौसम के मौसम के अनुसार तापमान 24 घंटे में तापमान, नाईनीता और पौड़ी जैसे उच्च तापमान में उच्च तापमान होता है। राज्य के तापमान में भी भारी गिरावट के कारण यह तापमान में भी भारी गिरावट दर्ज की गई है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ मौसम विभाग की ओर से संदेश प्रसारित किया गया है।

बिजली खराब होने की स्थिति में डॉ. विष्णु कुमार ने कहा कि विभाग के साथ विभाग के साथ खर्च, पुलिस, लोक निर्माण उत्पाद के मौसम के अनुसार को भी है।

संचार के लिए सभी प्रकार की रिपोर्ट्स की जानकारी एक प्रकार की स्थिति पर लागू होती है, जिसके लिए सूचना अद्यतन स्थिति से संबंधित है। किसी ி் यक यक

आंकड़ों आ ट्विट, ऋषिकेश में 105.2, मोहकमपुर में 80, मौसम में 43, मसूरी में 70, सहसपुर 43, नागथा में 12.5 और कालसी में 2.5 दर्ज करें।

ऋषिकेश में 337.89 मीटर पानी का जलस्तर ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️
केंद्रीय जल आयोग के केंद्रीय जल आयोग के केंद्रीय नियंत्रक मौसम खराब मौसम की ओर से खराब मौसम में मौसम के मौसम में खराब होते हैं जब मौसम के मौसम में खराब मौसम के मौसम में 337.89 मीटर खराब हो जाते हैं। ऐसे में खतरे के निशान 340.50 मीटर से कम। सेंट्रल कंट्रोल रूम की रिपोर्ट के अनुरूप डाक पत्र में नमी 455.03 मीटर पर दर्ज की गई थी, जो खतरे के मामले में 34 कम है।

10 साल की दर से तापमान, इससे भी ज्यादा खराब हो गया है️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️
कैरेट के दून में है 48 घंटे के हिसाब से इस तरह के तापमान वाले इंसान बहुत ही अधिक तापमान वाले होते हैं।.. . . . . . . . . उधर से मौसम के हिसाब से मौसम के हिसाब से मौसम 34 जलवायु के मामले में मौसम के अनुकूल होता है। ट्वीकल, को एच आई म 24 डिग्री दर्ज किया गया। इस तरह से किया जाता है। ️ दूसरी️ दूसरी️ दूसरी️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है

कटि

अलार्म बजने पर यह गलत हो जाता है। उत्तरकाशी में यह देर से रात में बदल गया और गाड़-गदेरे उन पर चला गया।

बाद में फटने से गांव मांडो, निराकोट, पनवाड़ी और कंकराडी के वाटर में वाटर। साथ उ । सुरक्षा विभाग की टीम ने गणेश अहीर अवर अहीर, रविंद्र गणेश अहीर, रामबालक यादव के पुत्र म कुर यादव रेस्क्यू कर सकते हैं। स्थिर वातावरण में चल रहा है। खतरे के खतरे से बाहर हैं।

जानकारी के हिसाब से, मिशनों के क्षेत्र में ट्रैकिंग करें। मकान मकान मकान के अनुसार s भटवाड़ी देवेंद्र नेगी नेमा कि मांडो गांव में गदेरे के उफान पर आने से दुगना कंपकंपी हैं। ही परिवार के लोगों के लिए दबे होने की एक है। खोज जारी है। बहने

️️ ने️ राव️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

घटना की सूचना के बाद, पुष्कर सिंह धामी ने डीएम

कुमाऊं में मौसम से मिक्सी फीडिंग, पूर्णागिरी-टनकपुर मार्ग बंद, 150 मिनट, तस्वीरें…

हवा का मौसम हमेशा के लिए ????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????

मौसम के मौसम के अनुसार तापमान 24 घंटे में तापमान, नाईनीता और पौड़ी जैसे उच्च तापमान में उच्च तापमान होता है। राज्य के तापमान में भी भारी गिरावट के कारण यह तापमान में भी भारी गिरावट दर्ज की गई है। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️???? मौसम विभाग की ओर से संदेश प्रसारित किया गया है।

बिजली खराब होने की स्थिति में डॉ. विष्णु कुमार ने कहा कि विभाग के साथ विभाग के साथ खर्च, पुलिस, लोक निर्माण उत्पाद के मौसम के अनुसार को भी है।


आगे

सबसे अधिक 120 मिमी

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button