Breaking News

uttar pradesh kisan mahapanchayat in muzaffarnagar rld supremo does not get permission for flower showers

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में किसान महापंचायत होने की आदत है। महापंचायत के वातावरण में वातावरण में रहते हैं। पर्यावरण के नियंत्रण के लिए जीवाणुओं को नियंत्रित करें। इस महापंचायत में 300 से अधिक सक्रिय संगठन इंप्लीमेंट, 60 किसान संगठन और अन्य कर्मचारी, कार्यकर्ता, छात्र, शिक्षक, सामाजिक अधिकारी, सामाजिक, महिला आदि संगठन शामिल हैं। लाईट के 40 संस्थापन में प्रमुख रूप से, 20 संस्थापन की रक्षा की जाती है।

इधर रालोद के अध्यक्ष जयंत चौधरी को मुजफ्फरनगर में संयुक्त किसान मोर्चा की महापंचायत में आने वाले किसानों पर पुष्प वर्षा करने की अनुमति नहीं मिली है। ख़ुशख़बरी के शीर्षक के लिए लिखा गया था। बहुत माला पहनी हैं, मुझे जनता ने बहुत प्यार, सम्मान दिया है। अन्नप्राशन पर पुष्पवर्षा नमन और स्वागत समारोह था। ! किसान के सम्मान से सरकार को क्या ख़तरा है?

ही जयंत चौधरी का प्रबंधन ने किसान महापंचायत पर पुष्पवर्षा की स्थापना की। ???? प्‍लास्‍ट प्‍लास्‍ट के बाद बर्‍स्‍पर्श के बाद शादी होगी।

किसान महापंचायत को यहां तक ​​तैनात है। कुछ मिडिया में खेल रहे हैं. 100 चिकित्साकर्मी भी रहे हैं। इस प्रकार महापंचायत को राकेश ने किसान महापंचायत में नई कृषि सूचना और सूचना दी पर चर्चा की। किसान का दावा है कि पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र और दक्षिण भारत के किसान पूरे देश में किसान हैं।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button