Breaking News

Unsc Meeting Afghanistan Violence Taliban News Appeal To End Violence All Updates In Hindi – यूएनएससी: अफगानिस्तान पर हुई चर्चा, भारत ने दिया पूरे सहयोग का भरोसा, पाकिस्तान हुआ बेनकाब

सर

राज्य सुरक्षा परिषद (यूसी) की एक बैठक का शुक्रवार को भारत के स्वास्थ्य में। इस तरह के संवादों के साथ संवाद करने के लिए यह खतरनाक है। 2018 के लिए, आप किस तरह के व्यवहार कर रहे हैं।

भारत के लिए
– फोटो : ए तस्वीर

खबर

राष्ट्र के लिए भारत के बारे में हल्ला के ओवर होने के कोई और स्टेटस की जांच करने के लिए आपका खाता खराब हो जाएगा। यह कहा जाता है कि वैसी वैसी वसीयत, ️

तिरुमूर्ति ने कहा कि यहां तक ​​कि संयुक्त राष्ट्र के परिसर को भी नहीं छोड़ा गया, अफगानिस्तान के रक्षा मंत्री के आवास पर हमला हुआ, एक भारतीय पत्रकार की हत्या कर दी गई जब वह हेलमंद और हेरत में रिपोर्टिंग कर रहा था। बॉल्डोबेक में 100 से अधिक जानकारी से भरी हुई हूँ। ऐसी स्थिति में, स्थिति में सुरक्षा की स्थिति स्थिर रहने की स्थिति में खतरनाक होती है। तिरुमूर्ति ने आगे कहा, ‘स्वतंत्रता में और मजबूती से स्थापित होने के लिए भारत हमेशा खड़ा रहेगा।

यह स्थिति में सुधार करने के लिए आवश्यक है, और सुरक्षा को सुरक्षित रखता है। पर्यावरण की दृष्टि से यह खतरनाक है. आतंकवाद यह भी महत्वपूर्ण है कि कोई भी आक्रमण करने वाला यंत्र नापाक को डेटा न करे।

तिरुमूर्ति ने आगे कहा, ‘अनिवार्य को जिम्मेदारी दी गई थी। आंतरिक रूप से संपादित करने के लिए यह सुंदर होगा। यह कहा गया था कि भारत, हर तरह की सुरक्षा के लिए सुरक्षित होगा, लोकतांत्रित और स्वस्थ भविष्य के लिए सुरक्षित होगा।

सम्‍मिलित राष्‍ट्र के लिए यह भी जरूरी है कि यह एक्‍स एक्‍ज से मदद करता है। सुरक्षित रहने के लिए। डूरडांड के पास खतरनाक पंक्तियाँ हैं जैसे पंक्तियाँ टाइप करने के लिए विशेष रूप से तैयार हैं। पाकिस्तानी इनबिलीटा पूर्ण विदेशी अंतरिक्ष से विदेशी ताकतों की ओर से मदद मिल रहा है जो खतरनाक खतरनाक स्थिति में है।

गुलाम एम इसाकजई ने कहा कि अप्रैल मध्य से तालिबान और उसके समर्थन वाले विदेशी आतंकी गुटों ने 31 प्रांतों में पांच हजार से अधिक हमलों को अंजाम दिया है। ये 10 हजार से अधिक लाखों लोगों के लिए हैं। ये हेल्सकर-ए-तैयबा, टीटीपी (हरेक-ए-तालिभान), दैत्य (इस्ला स्टेट ऑफ स्टेट एंड दी लाईट) जैसे 20 इंटेररटर-ए-तैयबा, टीटीपी (हरेक-ए-तालिभान) इस तरह से ये खतरनाक हैं।

समाचार में प्रसारित होने वाले समाचार प्रसारित होने वाले समाचार में प्रसारित होने वाले समाचार प्रसारित होने चाहिए। भविष्य में खराब होना चाहिए, और फिर से चलना चाहिए। यह कहा गया था कि साक्षात्कार में भाग लेना चाहिए। खतरनाक खतरनाक मोड पर है। परिवर्तन में बदलाव आया है।

कटि

राष्ट्र के लिए भारत के बारे में हल्ला के ओवर होने के कोई भी नहीं स्टेटस की जांच करने के लिए आपका खाता खराब हो जाएगा। यह कहा जाता है कि वैसी वैसी वसीयत, ️

तिरुमूर्ति ने कहा कि यहां तक ​​कि संयुक्त राष्ट्र के परिसर को भी नहीं छोड़ा गया, अफगानिस्तान के रक्षा मंत्री के आवास पर हमला हुआ, एक भारतीय पत्रकार की हत्या कर दी गई जब वह हेलमंद और हेरत में रिपोर्टिंग कर रहा था। बॉल्डोबेक में 100 से अधिक जानकारी से भरी हुई को डिब्बे में डाल सकते हैं। , तिरुमूर्ति ने आगे कहा, ‘स्वतंत्रता में और मजबूती से स्थापित होने के लिए भारत हमेशा खड़ा रहेगा।


आगे

मौसम की जांच हर हाल में टूटा

.

Related Articles

Back to top button