Panchaang Puraan

Today Horoscope August 8: Aries Sagittarius and Aquarius should be careful donate green things know how your day will be – Astrology in Hindi

मौसम की स्थिति-राहु वृषभ राशि में हैं। सूर्य, बुध और शुक्र राशियां। सिंह राशि चक्र शुक्र और मंगल। वृश्चिक राशि केतु। मकर राशि में शनि और गुरु का गोचर मकर राशि में चल रहा है।

राशिफल-
मीन-
होमकलह से स्पष्ट। भौतिक सुख-संपदा में ख़ल की स्थिति। मां के स्‍‍‍‍‍‍थ्‍य पर ध्यान दें। घर के रोगाणु रोगाणुओं स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। रक्‍तचाप- हो सकता है। प्रेम की स्थिति ठीक है। व्‍यापार्क नज़रिए से आप ठीक-ठाक चलने वाले हैं। सूर्यदेव को जल। गो शिव का जलभिषेक करें।

वृषभ-परक्रम रंग। रोज़ी-रोज़गार में तराकी। अपरिमेंट के स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍ला! ठीक ठीक ठीक है। एक, कान, गल को क्षतिग्रस्त हो सकता है। प्रेम की स्थिति हिंदी है। व्‍यापार्क दृष्टिकोण से सही समय है।

मिनट-अप रिपोर्ट से गलत। इन्वेंटरी इन्वेंटरी न करें। ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍! गो शिव का जलभिषेक करें।

कर्क-स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]मन रोग समाधान। प्रेम की स्थिति पहले से बेहतर, व्‍यापार्क दृष्टिकोण से चलने योग्य हैं। बजरंग बली की आराधना करें।

सिंह-मन में बेचैनी होगी। लागत को खराब में। फिर भी। प्रेम मध्यम है। व्‍यापार की स्थिति लगातार चलती रहती है। य‍िव पर ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]गो शिव का जलभिषेक करें।

कन्या-अर्थव्यवस्था की स्थिति सुलझाएंगे। ध्यान न दें I यात्रा का योग बन रहा है। भविष्य में संकट का सामना करना पड़ सकता है। प्रेम की स्थिति ठीक है। व्‍यापार लगातार चलने वाला है। वाइट वास्तु का दान।

तुम-व्‍यवसायिक लाभ की स्थिति। पिता –कचहरे में … व्‍यवसायिक दृष्टिकोण से मध्‍यम से उत्‍तम की ओर। गो शिव की अराधना..

वृश्चिक-कुछ काम काम। रुका हुआ काम ठीक से काम कर रहा था। स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍में सुधार, प्रेम मध्‍यम, व्‍यापारिक दृष्टि से उम्‍मीद है। हरी वस्तु का दान।

धनु-जोखिम समय है। प्रक्रिया से प्रक्रिया। स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍मां, प्रेम की स्थिति ठीक-ठाक, व्‍यापार्क दृष्टिकोण से हिंदी में चलने दें। गो शिव की अराधना..

मकर-व्‍यवसायिक मामले समझेंगे। ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]प्रेम की स्थिति उम्मीद है। व्‍यापार आशा उम्‍मीदवारी है। मां काली की आराधना करें।

कुंभ-विवेक से काम लिया। शत्रु को भी अपने बनाए। सम्मेलन का आशीर्वाद। गलत बात नहीं होगी। स्‍‍‍‍थ्‍‍‍‍‍‍‍‍‍मां, प्रेम की स्थिति ठीक-ठाक, व्‍यापारिक दृष्टि से उम्‍मीद समय है। हरी वस्तू।

मीन-स्थिति ठीक ठीक ठीक ठीक पहले जैसी स्थिति वैसी ही वैसी न होगी। प्रेम में तुम, मैं-हो। ग़लती की जाँच पर ध्यान दें। स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। कुल मध्‍यम कहा गया। भोलेनाथ की अराधना.

प्रस्तुति-
अजय कुमार सिंह
गोरखपुर।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button