Panchaang Puraan

Today Horoscope 20 July 2021: Aaj ka rashifal Keep a little care in the job of Taurus and Pisces people are afraid of being humiliated – Astrology in Hindi

मौसम की स्थिति-राहु वृषभ राशि में हैं। बुध मिथुन राशि में हैं। सूर्य और मंगल ग्रह राशियों में हैं। शुक्र सिंह राशि में हैं। केतु और वृश्चिक राशि में हैं। शनि मकर राशि में हैं और गुरु राशियों में हैं। गुरु और शनि समान गति से चलने वाले होते हैं। मंगल ग्रह भी बने हैं। सूर्य के साथ संपर्क करें।

राशिफल-
मीन-
जोखिम समय है। काम करना संभव है। किसी को नुकसान हो सकता है। अशक्त बचकर। मामलों में मामला समय है। प्रेम और व्‍यापार मध्‍यम गति से. लाल वस्तू। बजरंग बली की आराधना करें।

वृषभ-‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]अभी कोई भी न करें। कार्य-चाकरी में भी निष्क्रियता। ️ ठीक️ परेशान️ ठीक️️️️️️️️️️️ प्रेम मध्यम, व्यापारिक दृष्टि से-करीब ठीक है। लाल वास्तु का दान।

मिनट-शत्रुओं पर दुश्मन। रुका हुआ काम ठीक से काम कर रहा था। निर्धारण-निर्धारण-विन्यास। प्रेम की स्थिति उम्मीद है। वैयापार्क दृष्टि से ठीक-ठाक प्रक्षेपण। लाल वास्तु का दान।

कर्क-स्थिति ग़लती की जांच पर ध्यान दें। ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]प्रयोगशाला-रोजगार के क्षेत्र में ठीक-ठाक काम करते हैं। बजरंग बली की आराधना.

सिंह-पर्यावरण में नियंत्रण, घर में कलह की रक्षा करता है। मां के स्‍‍‍‍‍‍थ्‍य पर ध्यान दें। गलत तरीके से प्रयास किया गया। प्रेम, व्‍यापार, संतान मध्‍यम। हनुमान अष्टक का पाठ करें।

कन्या-परक्रम रंग। रोज़ी-रोज़गार में तराकी। सुधार में सुधार होगा। प्रेम मध्यम बना। व्‍यापार्क नजरिये से चलने वाले ‍‍हैं। लाल वास्तु का दान।

तुम-अतुल्यकालिक हो सकते हैं। मुख रोग हो सकता है। कुटुंबीजन उलझे रह सकते हैं। इन्वेंटरी इन्वेंटरी न करें। स्‍पथ्‍य निर्धारण-गरम, प्रेम की स्थिति मध्‍यम, व्‍यापारिक दृष्टिकोण से ठीक-ठाक समय है। बजरंग बाण का पाठ.

वृश्चिक-स्थिति ठीक-ठाक होना। उम्मीद नहीं है। स्‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍]प्रेम की स्थिति मध्यम है। वैयापार्क दृष्टिकोण से-करीब प्रक्षेप में। बजरंग बाण का पाठ।

धनु-खर्च को आँकड़ा । आंखों के सुधार के लिए, स्व-स्वीकृति भी कर सकते हैं। स्‍थ्‍य मध्‍यम, प्रेम की स्थिति भी मध्‍यम है। सपने देखने के बाद उम्मीद की जा सकती है। बचकर पार करें। सूर्यदेव को जल।

मकर-अर्थव्यवस्था की स्थिति मजबूत। रुका हुआ धन वापस। समाचार की रिपोर्ट से स्व-स्वीकृति. स्‍पथ्‍य मध्‍यम, प्रेम की स्थिति-करीब ठीक, व्‍यापार भी। मां काली की वंदना।

कुंभ-रोजी-रोज़गार में टांक लगाने से शुध्द हो जाता है। स्‍‍‍‍‍‍‍वै, प्रेम और व्‍यापार भी-करीब हिंदी है। लाल वास्तु का दान।

मीन-यह भी खराब है। पूजा पाठ में स्‍‍‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम ठीक-ठाक दृष्टिकोण, व्यापारिक से भी ठीक-ठाक समय। बजरंग बली की आराधना.

प्रस्तुति-
अजय कुमार सिंह
गोरखपुर।

.

Related Articles

Back to top button