Panchaang Puraan

इस माह प्रभु श्रीराम से मिले थे हनुमान, जल का किया जाता है दान

ये हिंदी माह कैलेंडर का इतिहास है। माह जल को विशेष रूप से दो त्योहारों, गंगा दशहरा और निजला एकादशी। मान्यता है कि ज्येष्ठ माह में हनुमानजी की प्रभु श्रीराम से मुलाकात हुई, इसीलिए इस माह हनुमानजी की पूजा बहुत पुण्यदायी मानी जाती है।

इस सूर्यदेव को शक्तिशाली बनाएं। नितपा भी आगे बढ़े। माह वट सावित्री व्रत, शनि जुबली, गंगा दशहरा, अपरा एकादशी, निजला एकशी, अचला एकादशी, गणेश चतुर्थी आदिमत्य मेनेए स्थिर हैं। नारद जुबली जन्म न्याय ज्येष्ठ मास में जल दिवस का विशेष महत्व है। मिह घर की छत पर बैठने के लिए शैतान-पाण्ण होना चाहिए। गंगा मां ज्येष्ठ भी कहा जाता है। इस आने वाले आने वाले त्योहारों से आने वाले यात्री-मुनियों ने संदेश भेजा है कि गंगा का देवता और जल के रहस्यमयी रहस्यमयी रहस्योद्घाटन करेंगें। । इस दिन का समय विशेष रूप से ठंडा किया गया था। इस ज्ञान सत्यनारायण की कथा का श्रृखंला पठन-पाठन में है। इस माह सूर्यदेवता और वरुण देव की उपासना करें। यह खाने के लिए बेहतर है। यह कहा जाना चाहिए था। अजीबोगरीब व्यवहार करने वाले व्यक्ति को खाने में परेशानी होती है। माहातिल का दिन से बचना चाहिए।

इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।

संबंधित खबरें

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button