Panchaang Puraan

The inauspicious effect of Shani due to the combination of these two big planets know what will be the effect on you – Astrology in Hindi

देवउठनी एकादशी से शुभ और मंगल ग्रह की शुरुआत हो गई है। इस सूर्य के बाद देवगुरु बृहस्पति अपनी स्थिति में परिवर्तन करने वाले हैं। ज्योतिषाचार्यों की खुद की राशि, 16 नवंबर को सूर्य ने वृश्चिक राशि में प्रवेश किया है। अब 20 नवंबर को मकर राशि में गोचर। महत्वपूर्ण घटना की स्थिति में ध्यान रखना महत्वपूर्ण है-

सूर्य गोचर का प्रभाव-

सूर्य का संतुलन सही होने पर एक साल का समय लेता है। सूर्य गोचर से कुछ राशिफल प्राप्त हुए हैं और कुछ राशिफलों के परिणाम भी हैं। सूर्य की वृश्चिक राशि में गोचर शुभ होता है।

इन राशियों के लिए शुभ है चंद्र द्र, क्या सूची में शामिल है आपकी राशि?

प्रभावी प्रभावी प्रभाव-

सूर्य का स्थिरीकरण. गोचर से शनि की दृष्टि से चालू हो गया है। सूर्य गोचर के सर्वर्थ सिद्धि योग का संयोग था। सूर्य नक्षत्र में विराजमान था। सूर्य के अनुकूल होने पर यह अच्छा होता है।

सूर्य की युति लग्न के लिए शुभ प्रभात… ज्योतिषाचार्यों के हिसाब से, वैवाहिक-दिसंबर के बीच में शुभ से वैवाहिक जीवन। अगहन का अनुमान लगाने के लिए शुभ मंगल।

इन 3 राशियों के सदस्य प्यार करते हैं, माता लक्ष्मी की संतान के लिए विशेष कृपा होती है

देवगुरु बृहस्पति का गोचर-

20 नवंबर से अगहन का सामान्य शुरू होने जा रहा है। इस ग्रह-सुविधाजनक ग्रह का राशि परिवर्तन भी होगा। गुरु ग्रह फल फलदायी है। अगहन में माता लक्ष्मी और विष्णु की पूजा करने से धन योग के योग होंगे। अविवाहितों को भी सहेजा जा सकता है।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button