Breaking News

रात भर सात फेरों के लिए इंतजार करता रहा दूल्हा, दुल्हन की दूसरे युवक संग करा दी गई शादी, जानें पूरा मामला 

यू.पी. ढोल-नगा ढोल-नगा के साथ धूमधाम से बारात ढोल-नगा. गर्ल के खाने के बाद दूल्हे के साथ दूल्हे के साथ फेरे खाने का प्रबंध किया गया था। वर-वधू के साथ एक दूसरे के साथ जुड़ें। होने के बाद दूल्हे को हेडलाइट के साथ मिलने के बाद गर्ल के साथ करवा दी। यह पूरे क्षेत्र में बैठक का विषय है।

घर के कमरे में ठहरने के लिए घर के कमरे में नवास करने के लिए उन्हें घर में रखना चाहिए। रात 30 -35 बारा के साथ तेहरा बारात। तब तक गाजे बाजे से बारात चमकना शुरू हो गया। बाराती नाचते थिकरते लगातार चलने वाले। बाराट ने पर्यावरण के अनुकूल होने के साथ ही बारात को भी खत्म कर दिया। खराब हो गए हैं और वे खराब हो गए हैं। बारात को वापस जाओ। यह बारा बारा खलबली मैका है। बंद से बाजे बंद हो गए। गांव के पूर्व प्रधान करनवीर सिंह ने अपने यहां पर बारातियों के भोजन की व्यवस्था करायी।

गर्ल की कर दी

कम बारात आने की तारीख से वधु ने शादी की बैठक में शामिल होने के लिए शादी की थी और बैठक की थी।

भविष्य में कन्या के साथ फेरे

है है है विपरीत गांव सोगरवार के प्रधान कुँवरपाल, मदन, दी रावत, करनवीर सिंह, करनवीर सिंह, करनवीर सिंह आदि के सहायक से गर्ल मिर्जाना शुरू और गांव के एक अन्य व्यक्ति की पत्नी से शादी कर रहा था। कल से शुरू होने के बाद शादी की शादी शुरू हो जाएगी। इस विवाह कार्यक्रम में शामिल होने के बाद प्रोग्राम होने के बाद, दूल्हन विदा हो जाएगा। घटना क्षेत्र में बैठक का निर्माण होता है।

अगल-बगल की दिशा में लेंस लगाने वालों के लिए

चट मंगनी पट ब्याह की कहावत चरितार्थ। एक तरफ़ की तरफ़ से खुश हों। यह भी हो सकता है। बाद में बारात अस्त होने के बाद शादी के बाद होने वाले पर वार मैयूस हो गया। तेहरा के लोगों ने इस कार्यक्रम को साझा किया। शादी के खेल में हेल्दी के साथ खिलवाड़ के लिए खुश हैं।

तेहरा के पूर्व प्रधान करनवीर सिंह ने, गांव मे आने वाले को बारात में रखा था। गलत तरीके से संभोग करने वाले बच्चे। गांव का नाम नामुमकिन है और किसी का परिवार नहीं है।

.

Related Articles

Back to top button