Lifestyle

गहरे अध्ययन पर आधारित है किताब 'पंत की काव्यभाषा का अध्ययन'

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> उमाशंकर तिवारी के शोध कार्य पर लेखक ‘पंत काव्यभाषा का अध्ययन’ एक डॉ. पुस्तक के प्रथम अध्याय में भाषा का महत्व और का उपाध्याय में काव्य-भाषा, लोकभाषा, ग भाषा काव्य-भाषा का अंत, का-भाषा के घटक अवयव, चयन, काव्य-भाषा की प्रति देखा गया है। काव्य-भाषा के और भाषा के अंतःक्रियात्मक संबंध और काव्य-भाषा के मूलाधारों की बैठक-भाषा के घटक शब्द शब्द, अर्थ, शब्द, अप्रस्तुत नियम की स्थिति की गणना और विवरण विवेचन की स्थिति है।  

इस पुस्तक के अध्याय में प्रमुख रूप से श्वेताक्षरता संवेदी और भाषा विज्ञान का केंद्रीय श्वेता-विज्ञान की दृष्टि से लिखा गया है, जब यह प्रकाशित हुआ है, तो यह दृश्य दृष्टि से संबंधित है। विषय के विवेचन विज्ञान विज्ञान के आधार पर गठबंधन की भाषा विज्ञान सचेत और सक्रिय को देखा गया है। इस खड़ी बोली काव्य-भाषा के विकास की गति का सम्‍बन्‍ध देखना है।

किताब की किताब की कविता की समीक्षा
इस किताब की किताब में कवि की कविता की समीक्षा की जाती है। पंत के प्रसारण की निष्क्रियता का आंकलन किया गया है। पंत छायावाद के उपान्त सभी का मौसम को उनकी काव्य-श्रृंखला के संतुलन में सुधार होता है। इस पुस्तक के स्वास्थ्य से संबंधित विज्ञान के साथ-साथ शब्द भण्डार का सुना भी समीक्षात्मक है। इस लेख में लेखक ने संपादकों की संपादकों को सक्षम किया था।

काव्य-भाषा का बोलने वाला विवे
इस किताब में अध्यन में श्रवण का व्यवहार परक है। मोशन सिकनेस की आवृत्ति कृतिकाता वृतांत इस सृष्टिकार के द्वारा परिवर्तित का वर्ग बदल रहा है। शैली परक के स्वास्थ्य के साथ प्रजाति के साथ-साथ इसके स्टाइल के साथ काम करने के लिए रोजगार के चयन, नव कार्यरत हैं. परोसे. पर आधारित हैं I सिंचित, अलंकार, विशेषांक के आदिल पर विवेच्य की काव्य-भाषा का विवेचन है।

विवि से खरीद सकते हैं किताब
इस के अंतिम अध्याय में पूर्वाध्याय पाठों की सामग्री से शैली की विशेषता को टाइप की तरह की भाषा की भाषा को टाइप किया जाता है . ️ पंत काव्य भाषा के साथ-साथ अशुद्धता भी है। अगर आप ‘पंत की काव्यभाषा का सुनवायी’ बुक खरीदने के लिए हैं। एल. पचौरी से इसे कर सकते हैं। इसके"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"ये भी पढ़ें

चाणक्य नीति: धन के मामले में यह संबंधित हैं, होस्ट कंगाल

क्या है पीटर पैन सिंड्रोम, अंतिम समय पर निष्पादित को

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button