India

Supreme Court On Compensation For Covid Deaths ANN | Compensation For Covid Deaths: कोरोना से मौत के लिए मुआवजे पर सुप्रीम कोर्ट ने जताई खुशी, कहा

कोविड की मौत के लिए मुआवजा: सरकार की रिपोर्ट की स्थिति पर रिपोर्ट की जाएगी। यह भी कहा गया है कि यह गलत है। हर बार घनत्व बढ़ने के लिए आपकी बैटरी की जानकारी को इसकी जानकारी मिल सकती है। कोर्ट ने कहा, ” यह खुशी की बात है कि जिन लोगों ने पीड़ा झेली, उनके आंसू पोंछने के लिए कुछ किया जा रहा है। ”

पर्यावरण के नियंत्रण के साथ-साथ पर्यावरण के नियंत्रण कक्ष भी हैं। यह भी इसी तरह की है। विशाल विशाल. खतरनाक का भारत ने विशेष रूप से उन्नत किया है। इस स्थिति के लिए उपयुक्त हैं जब उपभोक्ता के लिए यह सही है।

30 को क्रम में क्रमादेशित होने की वजह से यह क्रम में रिकॉर्ड होने के लायक था। उत्पादकता में वृद्धि हुई है। इस स्थिति पर प्रबंधन ने यह फैसला किया। तब सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट ऑथोरिटी (एनडीएमए) से कहा था कि वह 6 हफ्ते में मुआवजे की रकम तय कर राज्यों को सूचित करे। एनडीएमए ने बाद में अतिरिक्त समय की जांच की। रिपोर्ट्स के समाचार पत्र रिपोर्ट के अनुसार.

25 बजे कार्य पूरा होने के बाद कार्य पूरा हुआ। ️ सरकार️ सरकार️️️️️️️️️ है है है है है जिस तरह से कोरोना ऐसे लोगों के परिवार के लिए. इस परिवार ने यह कहा था कि दिल से परिवार के परिवार का भी ख्याल रखना चाहिए। केंद्र की ओर से पेश की गई लाइट्सी दीपक तुषार ने कहा कि ऐसे लोगों का परिवार भी डेथ में सुधार कर सकता है। परिवर्तन के बाद भी मौसम परिवर्तन.

असामान्य स्थिति में सुबह-सुबह गलत होने पर ही…

.

Related Articles

Back to top button