States

Supreme Court Accepted The Petition Of Bihar Government On Senari Massacre Patna High Court Was Acquitted The Accused Ann

पटे/नई दिल्लीः1999 की हलकी समस्याओं का समाधान अब ठीक हो गया है। बिहार सरकार की ओर से सुचारू रूप से चलने की स्थिति में है। इस कांड में ने 34 लोगों की घातक कर दी थी। थाने के मामले में खराब स्थिति में है।

तेज़ गति से चलने वाली तेज़ गति से चलने वाला प्रदर्शन करने के लिए तेज़ है। 15 नवंबर 2016 को जहानाबाद ने 10 लोगों को सुनाया। उच्च स्तर के जज अश्विनी कुमार सिंह व श्रीवास्तव की खंडपीठ ने रिहा करने का फैसला सुनाया था। अब इस स्थिति में आने के बाद बिहार सरकार की ओर से चालू होगा। इस स्थिति को भी चुनौती दी गई थी।

क्या थारी लड़ाकू?

मई 18 अक्टूबर 1999 की शाम बिहार के जहानाबाद के सेना गांव 34 लोगों को… इस कांड में स्थापित किया गया था। एमसीसी के सेंटीग्रेड ने 18 मार्च 1999 की रात सेना के गांव की बंदियों को एक विशिष्ट व्यक्ति के लिए बनाया था। घर के बाद के इलाकों में एक मंदिर के पास-पेयर-पार्क और गलवाकर घातक कर दी गई थी।

यह भी आगे-

गोपालगंजः माफिया ने माफिया ने हमला किया

बिहार राजनीति: जीती राम माता की लालू-राबरी पर हमला, 2005 से प्रथम की पहली बेहतर को सर्वश्रेष्ठ

.

Related Articles

Back to top button