Panchaang Puraan

sun transit surya gochar rashi parivartan february 2022 horoscope rashifal predictions effects on zodiac signs – Astrology in Hindi

सूर्य पारगमन सूर्य गोचर राशि परिवर्तन: सूर्य की गणना करने के लिए, आपके नियंत्रक की गणना में नियंत्रक की स्थिति होगी। 13 फरवरी की सुबह 6 बजकर 49 पर सूर्य देव कुंभ राशि में वृद्धि 14 अक्टूबर तक कुंभ राशि मे सूर्य देव प्रभाकर को प्रभावी रूप से स्थापित किया जाएगा। कुम्भ राशि में शामिल हैं सूर्य भारत संपूर्ण विश्व और चराचर को मिलाकर। भारत की कुँकर्क राशि और वृष लगाने के होने के रूप में बदलने के लिए आवश्यक है। फल आम जनता के सुख में वृद्धि, सरकार के प्रभाव में वृद्धि, भारत मे स्वास्थ्य में विश्व स्तर पर, सामाजिक स्वास्थ्य, सामाजिक स्वास्थ्य के साथ, राज्य के जनों के जीवन में कटुता, वृद्धि, सरकार द्वारा वाहन, इंफ्रास्ट्रक्चर, कंस्ट्रक्शन ️ सरकारी गतिविधि के लिए नई जानकारी की जानकारी भी है।

  • मीन राशि- पंचम के कारक कारक
  • आय में वृद्धि।
  • लाभ से लाभ में वृद्धि।
  • सरकारी लाभ में वृद्धि।
  • बौद्धिक क्षमता में वृद्धि।
  • वृद्धि से लाभ और वृद्धि।
  • प्रतिभा के प्रतिफल में वृद्धि।

उपाय :- माणिक्य रत्न कॉर्टिंग ।

14 फरवरी से शुरू होने वाले नक्षत्रों के जन्मदिन, एक माह तक आने वाले संयोग में, सूर्य की तरह चमकेंगे भाग्य

वृष राशि-

  • सुख के कारक कारक स्थिति में।
  • सुख के लिए घर और वाहन में वृद्धि।
  • भूमि के लाभ में वृद्धि।
  • सरकारी लाभ में वृद्धि।
  • पिता
  • प्रतिभा के प्रतिफल में वृद्धि।

उपाय :- आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ।

मिथुन राशि :-

  • परक्रम के कारक भाग्य भाव में।
  • भाग्य और क्रम में वृद्धि।
  • नेतृत्व क्षमता और वृद्धि।
  • सरकारी लाभ में वृद्धि।
  • भाई, मित्रो से लाभ में वृद्धि।
  • दृश्य पर कार्य के प्रतिफल में वृद्धि।

उपाय :- लाल रोली I

आँकड़ों के समाचार

कर्क राशि :-

  • धन के कारक अष्टम भाव में।
  • पेट और की समस्या में वृद्धि।
  • ववायवसाय से लाभ में वृद्धि।
  • कार्य कार्य को प्रगति
  • सही का ध्यान। अचंचल
  • प्रेम संबंधों में सौहार्दपूर्ण वृद्धि

उपाय :- पापा की सेवा करें। आगमन का आदेश :

सिंह राशि

  • सप्तम भाव में होता है।
  • मनोबल उच्चता, पर्सनैलिटी में वृद्धि।
  • कार्य क्षमता वृद्धि, लाभ से लाभ।
  • पिता का समर्थन और आशीर्वाद।
  • आय आय में वृद्धि।
  • तनाव जीवन और प्रेम तनाव में वृद्धि।

:- माणिक्य रत्न मापन करें।


कन्या राशि:-

  • कार्य कारक कारक ग्रह भाव में।
  • घर और वाहन सुख पर।
  • यात्रा खर्च में त्वरित वृद्धि।
  • रोग, शत्रु पर विजय।
  • समस्या की सामान्य समस्या।
  • जमीन जायदाद को तनाव।

उपाय:- सूर्य को जल् ़ ़ ़ ़ ़ ़️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

राशि :-

  • लाभकारी कारक कारक पंचम भाव में।
  • परक्रम में , सम्मान में वृद्धि ।
  • लाभ आय में वृद्धि होगी।
  • उत्पादकता से वृद्धि हुई है।
  • अध्ययन अध्ययन में रुचि रखते हैं।
  • सरकारी लाभ में वृद्धि।

:- सूर्य को पानी और उसका सम्मान करें।

गुरु कृपा से जुड़ें 2 इन राशियों के लिए शुभ, लाभ होगा

वृश्चिक राशि :-

  • राज्य के कारक कारक
  • सुख वृद्धि और सुख में वृद्धि।
  • मातृत्व, पितृ सुख और सरकारी लाभ में वृद्धि।
  • जमीन जायदाद कार्य में वृद्धि।
  • क्षेत्र से हानिकारक लोगों को।
  • मान वृद्धि, वृद्धि में।

:- माणिक्य रत्न मापन करें।

धनु राशि :-

  • भाग्य के कारक कारक भाव में।
  • नियति में वृद्धि, कार्य प्रगति।
  • वृद्धि, यश कीर्ति में वृद्धि।
  • भाई और दोस्तों का समर्थन, सनिध्य।
  • कामयाबी, पर्सपेक्टिविटी, तरक्की।
  • नई साझेदारी

उपाय :- मूल कुण्डली के मानिक्य कॉर्टिंग करें।

मंगल के शुभ प्रभाव से कुछ ऐसे ही जुड़ें होंगे शुभ समय, दुख-दर्द दूर

मकर राशि :-

  • अष्टम के कारक भोजन भाव में।
  • गहनता में, दांग की समस्या।
  • झटपट व्यय में अधिकता।
  • यात्रा पर खर्च की सम्भाव्यता।
  • भविष्य मे संभावित संभावित बन सकता है।
  • लागत खर्च

: – लाल रोली, लाल फल, लाल चन्दन श्री राम मंदिर में कोटे जैसे।

कुंभ :-

  • सप्तम के कारक कारक सक्रिय होते हैं।
  • आय और लाभ में वृद्धि।
  • व्यापार में वृद्धि।
  • नई स्थापना, व्यावसायिक संबंध स्थापित करना।
  • सरकार ने इससे लाभ उठाया।
  • दाम्पत्य जीवन, प्रेम प्रेम में लाभ की स्थिति

उपाय :- सूर्य देव के जल में।

मीन :-

  • षष्ट के कारक भोजन भाव में।
  • सम्मान और वृद्धि में।
  • संचार समस्याओं से मुक्ति।
  • माता के स्वास्थ्य को ध्यान।
  • शत्रु पर विजय प्राप्त करने के लिए।
  • व्यापार खर्च और व्यवसाय में वृद्धि।

:- लाल रोली, लाल फल, लाल चंदन के दिन श्रीराम धर्म में ।

Related Articles

Back to top button