Lifestyle

Sun Transit 2021 In Cancer Sun Dakshinayan On 16th July Now Weather Change Nights Be Longer And Days Shorter

कर्क राशि में सूर्य का गोचर 2021: सूर्य का समीकरण बदल गया है। सूर्य के समय में मिलान करने के लिए बुध के साथ आपके गोचर हैं. सूर्य और बुध से बुधादित्य है, ज्योतिष विज्ञान में योगों में से एक है।

कर्क राशि में सूर्य का राशि परिवर्तन
कर्क राशि में सूर्य का राशि परिवर्तन गणित में बहुत ही जटिल है। सूर्य को सभी का अधिपति स्थापित किया गया था। सूरज का मौसम से हैं। सूर्य का गोचर मौसम के मौसम का कारक है। सूर्य के संपर्क में आने के बाद भी यह आपके लिए उपयुक्त नहीं है। पंचांग के अनुसार सूर्य का राशि परिवर्तन हो रहा है, मोर-

कर्क संक्रांति का शुभ मुहूर्त
कर्क संक्रांति – 16 जुलाई 2021, शुक्रवार
कर्क संक्रांति का पुण्य काल – प्रात: 05:34 से शाम: 05:09 तक
समय – 11 घण्टे 35 मिनट
कर्क संक्रांति महापुण्य काल – सुबह 02:51 से शाम 05:09 तक
समय – 02 घण्टे १८ समयावधि
कर्क संक्रांति का दिन – शाम 05 बजकर 18

सूर्य, दक्षिणायन कब हैं?
सूर्य के समय में पुन: पुन: सौर्य में गोचर कर रहे हैं। सूर्य कर्क रेखा शुक्रवार को दक्षिणी हो जाएगा। पंचांग के अनुसार अब मकर संक्रांति 2022 तक सूर्य दक्षिणायन ही. सूर्य के संक्रमण के आगे दक्षिणायन। सूर्य के दक्षिणायन होने से कक्षा में प्रक्षेपित होने पर सूर्य के तापमान को नियंत्रित किया जाता है। विकास के दौरान असामान्य विकास होता है। ये है कि जब सूर्य कर्क राशि में ये हों तो ये समय का मध्याह्न काल है।

रातें और शानदार
सूर्य के दक्षिणायन होने से अब देखने को देखने. ध्यान से करें। दक्षिणायन के मौसम में मौसम का तापमान बढ़ने लगता है।

कर्क राशिफल: कर्क राशि में सूर्य का राशि परिवर्तन कर सकते हैं I

कड़क संक्रांति 2021: कर्क संक्रांति कब है? कर्क संक्रांति के नियम और महत्व क्या हैं, जानें

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button