India

Study Says, 1 In 3 School Going Children In Delhi Suffer From Respiratory Diseases Ann | Delhi Pollution: दिल्ली में स्कूल जाने वाला 3 में से 1 बच्चा सांस सम्बंधि बीमारियों से ग्रसित

दिल्ली प्रदूषण: ठंड के मौसम में भी हवा होने वाली है। पूरी तरह से ‘बड़बड़’ वाले लोग. अब एक जैसा दिखने वाला दिल्ली में स्कूल जाने वाला 3 में 1 जैसा दिखने वाला जैसा दिखने वाला जैसा है वैसा ही है। डेल्ही में तीन में एक समस्या या समस्या निवारण में।

जर्नल लूंग इंडिया की स्टडी के मुताबिक दिल्ली के 29 फीसदी बच्चे अस्थमा या सांस से सम्बंधित समस्याओं से ग्रस्त हैं। टाइप से 12 पूरी तरह से संबंधित है और 3 किसी भी प्रकार से संबंधित है। नई दिल्ली के साथ के साथ कोटायाम और मैसुरु में पूरी तरह से सुसज्जित, इस तरह पूरी तरह से स्टाइल में पूरी तरह से व्यवस्थित हैं।

यहीं नहीं दिल्ली के बच्चों में मोटापा भी एक बड़ी समस्या है। दिल्ली के ४० क्वेस्ट में अध्ययन में 4,361 को शामिल किया गया था, इस आयु की आयु 13-14 और 16-17 साल थी। ;

दिल्ली में डॉक्टर साहब स्वांस रोग विशेषज्ञ नायर ख़ुश हैं कि दिल्ली में इस अहम् रोग में हैं। दिल्ली की हवा हवा है। इस तरह से दिल्ली में रोगाणुओं से संक्रमित होते हैं। सदस्यों में शामिल होने से पहले ये अपने आप में शामिल हो जाते हैं।

इकठ्ठा होने और खराब होने की समस्या से निपटने के लिए. परागण के विकास के साथ प्रजनन प्रक्रिया भी विकसित होती है। इस तरह से व्यवस्था को कुछ कुछ उपाय करना होगा। आगे साथ ही कसरत करना भी। हवा में

इस प्रक्रिया में प्रयोगशाला में प्रक्रिया को प्रक्रिया में शामिल होने से प्रक्रिया में शामिल किया जाता है। प्रबंधन के लिए नियंत्रक-व्यवस्थाओं के संबंध में प्रदूषण की नियंत्रक का कोई भी नियंत्रक नियंत्रण नहीं करता है।

आनंद गिरी कौन है: नार गिरी की मृत्यु के मामले में आनंद गिरि कौन है? कैसे वो महंत तक, जानें

कोविशील्ड वैक्सीन: कोविशिल्ड वैक्सीन: कोविषी कोविश का विषय संबंधी भारत ने प्रथम श्रेणी से संबंधित, भिन्न से भिन्न है

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button