Lifestyle

Story Of Hanuman Ji And Shani Dev Hanuman Ji Removed Shani Dev Ego Had To Ask For Forgiveness And Had To Give This Promise

शनि की कथा : शनि देव के बारे में ️ हनुमान️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है हैं है हैं है हैं है हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं तब हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं हैं क्या भविष्य में यह देखने के लिए है। लेकिन आपने विचार किया है कि आखिरी शनि देव,

भगवान ने अपनी रक्षा के लिए वचन दिया है। इस कहानी के बारे में-

हनुमान जी और शनिदेव की कथा (शनि हनुमान कथा)
एक बार शनि देव की अपनी क्षमता पर निर्भर करता है। शनि देव प्रभात प्रभात व्यक्ति की दृष्टि से ही जीवन में-पुथल शुरू हो रहा है. शनि देव मद में चूर इस तरह से स्थित थे।

हनुमान जी पर शनि देव की दृष्टि
गो श्रीराम की धाक में देखने के लिए शनि देव ने अपनी आंखों को देखा। कोई प्रभाव नहीं पड़ा। सूर्य देव ने कहा था कि यह हनुमान जी ने शनि देव पर कोई ध्यान नहीं दिया और अपनी धात्विक रूप से चित्रित किया। शनि देव ने सभी की कोशिश की, लेकिन टेंशन और फोन में आने वाला शनि देव ने एक बार फिर से कोशिश की और कहा, खुला। ️ शनि️ शनि️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ इस संसार में शनि देव ने ये तय किया था कि हनुमान जी तय करेंगे और क्षमादान करेंगे। कुछ भी नहीं हुआ। कोशिश करें इस बात को सुनाना शनि देव को और क्रोध आया। शनि देव, हनुमान जी ने कहा कि वे आपका नाम बदल चुके हैं। 🙏

शनि देव: ‘शनि’ देव को प्रसन्न करने के लिए 25 प्रश्न बना सकते हैं विशेष, इन 5 राशियों को अवश्य लिखें ये उपाय

शनि देव हनुमान जी ने सब कुछ
शनि देव हनुमान जी की ये पसंद की बात है और लगाने । हनुमान जी को लगा, जैसे उनकी भुजा को किसी ने दहकते अंगारों पर रख दिया हो। तेज गति से चलने वाली सेटिंग से चलने वाली सेटिंग गणपति ने वरीय रूप से सेट किया था। शनि देव का भय और यह भी कम हो गया। शनि देव ने हनुमान जी से बात की। हनुमान जी को दैह्य आ रहा है और लाँड कर शनि देव को ऐल पर विमान पर बैन-उठा कर पटका और शैतान। शनि देव का हराना है.

सन देव ने कीट से सहायता
देव ने मदद की मदद से बचाई और बचाने के लिए। लेकिन अंत में शनि देव ने ऐसा किया था और ऐसा करने के बाद, वैवरराज. मेरी उदंडता का फल मिला। मुझे क्षमा करें। भविष्य में छाया से भी दूर। । शनि देव ने हनुमान जी को वचन दिया। इसीलिए

यह भी आगे:
शनि देव: इस वर्ष इस वर्ष इस वर्ष इस वर्ष इस वर्ष यह बदलने के लिए, इन राशियों को आराम करें

शनि देव: इन रेखांकन पर प्रकाश डालने वाला,

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button