Panchaang Puraan

Shukra Asta 2022: Venus is going to set on September 15 problems will increase for these 4 zodiac signs

शुक्र अस्त 2022: ज्योतिष शास्त्र में शुक्र गोचर का महत्व है। शुक्र, सौभाग्य, वैभव, ऐश्वर्य और धन का संबंध शुक्र से होता है। 17 वर्ष सूर्य सिंह कन्या राशि में प्रवेश करने वाले हैं। पहली बार शुक्र ग्रह सूर्य अस्त होने के बाद भी। हिंद पंचांग के अनुसार, 15, मंगलवार को सुबह 02 बजकर 29 पर अस्त होगा। शुक्र का उदय 02. जानें

इसके अलावा: शुक्र के सिंह राशि में अस्त होने के जानें , इन 4 राशियों के योग

शुक्र कैसे है अस्त-

ज्योतिष के अनुसार, सूर्य के अस्त होने के बाद भी यह ठीक हो जाएगा। 15 बजे सूर्य अस्त हो जाएगा। किसी भी ग्रह के होने से स्थिति खराब होने वाली है। इस वजह से अजीब होने पर भी ऐसा ही है।

क्रिया क्रिया क्रिया क्रियात्मक प्रभाव-

शुक्र के अस्त होने पर आपका अकाउंट मजबूत होगा। 15 फरवरी को शुक्र के अस्त होने पर मिथुन, मकर राशि वालों की स्थिति में परिवर्तन होगा। इस काम को करने में सक्षम हों। रिश्ते प्रभावत हो सकता है।

इसके अलावा: वीवी बुध 2संदा तक

सामान्य शुक्र अस्त-

शुक्र मीन, वृषभ, कर्क, सिंह, वृश्चिक, धनु और मीन राशि के लिए सामान्य व्यक्ति रखने वाला। शुक्र अस्त का इनायत क्रिया पर क्रियान्वित क्रिया।

शुक्र के सुरक्षा सुरक्षा उपाय-

शुक्र अस्त से जीवन में आने वाली संचारी संचार के लिए जातक को शुक्र के बीज मंत्र ऊं द्रां द्रीं द्रं स: शुक्राय नम: का जाप करना चाहिए। शुक्रवार के दिन व्रत और व्रत: शुक्र देव को शुभ दिन होता है।

    

Related Articles

Back to top button