Lifestyle

Shiva Will Happy With Five Types Of Abhishek In Sawan

सावन 2021: शुकशंकर का प्रिय माह सावन 25 जुलाई से शुरू हो रहा है, जो 22 अगस्त तक. दैत्य दान के हिसाब से सनातन धर्म में श्रावण मास का विशेष महत्व है, क्योंकि माह देवाधि देव महादेव को समर्पित है। मासिक शिवशंकर की विधि से यह सब कुछ मनोभावों का व्यवहार करता है I I इस दिन की बैठक के लिए बैठक करें।

पूजा की पसंद
बैटरी को सावन में धतूरा, बैलादेव, भांग, पसंद, चंदन, अक्षत, शक्कर, गंगाजल, शुद, वायु, महादेव के साथ। सिंदूर शिवजी आक का लाल-सुंदर को भी प्रिय है।

एक
सावन माह में उठने चाहिए। ️ आदि️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है हों। सभी देवी-देवता का गंगा जल से अभिषेक करें। पूरे दिन अधिक से अधिक समय शिवजी का ध्यान दें।

पूजा
सावन में हर मंगलवार को बैलेट से भोलेनाथ की विशेष पूजा होती है। सूर्य के प्रकाश से पहले जा और स्नानागार स्थल पर स्वच्छ बनायें। शिवलिंग पर दूध देने वाला व्रत का संकल्प लें. पहली बार शिवलिंग की स्वच्छता से धुलाई हुई गंगा जल और का अभिषेक करें। पोस्ट करने के बाद पोस्ट करें. आरती कर भोगालय। सात रोग का आवास।

तातवा
सोवन में स्थापित होने के लिए रुद्राक्ष की माली को व्यवस्थित करना चाहिए। अंतिम समय में अंतिम समय में रुद्राक्ष की मलिका से ही मंत्र जाप करें। व्यक्ति के समय शिव को भभूत और खुद भी मेल पर मिलते हैं। पूजा के शिव चालीसा और आरती पाठ महत्वपूर्ण है. दिन में दिन में महामृत्युंजय मंत्र जपते।

जेने
स्वस्थ्य रखने के लिए इसे स्वस्थ रखने के लिए विशेष रूप से स्वस्थ होना चाहिए। अतिरिक्त अतिरिक्त, प्याज़, मांसाहार, मैदा, बेसन, सूजी, मेथी दिवसा, गरम मसाला भी।

14
सावन 2021 Upay: सावन समस्या हल, इस समस्या का समाधान समस्या

सावन 2021: सावन की शिवरात्रि विशेष, तिथि तिथि तिथि, मुहूर्त और पारण

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button