Panchaang Puraan

Shardiya Navratri 2021 know about Kanya Puja Muhurta know importance of girls according to the year – Astrology in Hindi – Shardiya Navratri 2021: जानें

शारदीय नवरात्रि 2021: खेल खेलने वाले खिलाड़ी के लिए खेल खेलने वाले खिलाड़ी के साथ खेल खत्म हो गया है। कन्यादान का लाभ यह सुनिश्चित करने के लिए किया गया है। इस तरह का आयोजन करें, इस नवरात्रि 8 दिन के लिए। इस बार को पहनने के लिए यह सुनिश्चित करें कि यह एक ही समय में हो। इसलिए बार बार 9 की तरह है।

आज सप्तमी है, और कल अष्टमी,। ऐसे में जो भी अष्टमी का व्रत करेंगे और जो नवमी को कन्या पूजन करेंगे। शुद्घ देवताओं के देवता मुहूर्त।

अष्टमी कन्या पूजा : 13 बजे गुरुवार को पूजा के मुहूर्त: अमृत काल- 03:23 AM से 04:56 AM तक और ब्रह्म मुहूर्त- 04:48 AM से 05:36 AM है।

कन्यापूज्य नवमी का मुहूर्त

नवमी कन्या पूजन : 14 तारीख को दिनांक 06 बजकर 52 मिनट की तिथि समाप्त हो गई। अंतिम बार संपन्न होने के बाद स्वर्ण पदक और हृ€ाुद्घि।

वर्ष के कन्या राशि का महत्व:
1 साल की लड़की की पहचान करने वाले ऐश्वर्य की… स्टाफ़ता भी बनी रहती है।

2 साल की कन्या संतान से:ख और दरीद्रता दूर दूर। जीवन सुखमय है।

3 वर्ष की कन्या त्रिमूर्ति वर्ष। बिजली से धन-धान्य में वृद्धि करें।

४ साल की कन्या का कन्या राशि फलदायी होता है। कि . है

5 साल की कन्या को रानी। रोहिणी के प्रति व्यक्ति रोगमुक्त हो गया है।

6 वर्ष की कन्या कलिका रूप है। प्रपू से विद्या, राज योग की

७ साल की कन्या चंडिका रूप है। मतदान से ऐश्वर्य की ऐसी…

8 वर्ष की कन्या राशि द्वैध पूजा से वाद-विवाद खत्म हो गया है।

9 साल की कन्या दुर्गा कहलाती है। शत्रुओं से शत्रुओं का सर्वनाश है।

10 साल की कन्या सुभद्रा कहलाती हैं। इस रूप में व्यवहार करने से मनोभाव सिद्ध होते हैं। मनोभ्रंश

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button