Panchaang Puraan

Shani Rashi Parivartan: In 2022 Saturn will change Zodiac twice these 5 zodiac signs including Cancer and Aquarius effected

सूर्य ग्रह का विशेष महत्व है। शनि देव को ज्योतिष शास्त्र में शनि ग्रह फल मिला है। शनिदेव के नियंत्रकों की गणना करने के लिए यह आवश्यक है। प्रभावशीलता के लिए उपयुक्त और प्रभावी प्रभावशीलता के लिए। शनिदेव के राशि परिवर्तन से भी कुछ राशियों पर प्रभाव पड़ता है। शनि परिवर्तन के बाद की तारीख में बदली की गई सेटिंग्स और कुछ राशि चिन्हों पर शनि ढैय्या शुरू हो जाएगा।

साल 2022 में शनि दो बार राशि-

सन पासवर्ड में एक ही राशि से कोई भी व्यक्ति राशि में शामिल हो सकते हैं। 29 अप्रैल 2022 को शनि स्वराशि मकर राशि में प्रवेश करें। 12 जुलाई 2022 को सूर्य मकर राशि में गोचर होगा। यह शनि का राशि परिवर्तन है। शनि की वैसी होने की स्टेज पर शनि की सहीई सात और शनि के अधिकारी पद पर पदस्थापन को मिलान करेंगे। हालांकि यह स्थिति कुछ समय के लिए ही है। फिर भी सन 17 2023 को मौसम में खाने में गोचर होगा।

10 नवंबर को मौसम का पता लगाने के लिए ‘अंगूठे’ का अद्भुत नजारा, जानें कब और कैसे

शनि ग्रह का वर्णक्रमीय बनावट- जैसा दिखने वाला-

शनि राशि परिवर्तन से, मकर राशि और मीन राशि के व्यक्ति के स्वभाव से उत्पन्न होने वाले व्यक्ति । विविधा में, मकर राशि और धनु राशि वालों पर शनि की साती चलने वाली है। 29 अप्रैल 2022 को शनि के राशि में गोचर से धनु राशि वालों को शनि की साती से पूरी मिलन और मीन राशि के जातक आ जाएगा।

जून में सूर्य और शुक्र ग्रह में परिवर्तन, 5 राशियों की चमक होगी

वर्तमान मिथुन मिथुन शनि के राशि परिवर्तन से कर्क और वृश्चिक राशि वालों पर शनि ढैय्या शुरू होगा। इस प्रकार से शनि के एक राशि चक्र में गोचर से कुंभ राशि, मीन, कर्क और वृश्चिक राशि के व्यक्ति के रूप में प्रकट होता है।

संबंधित खबरें

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button