Lifestyle

Shani Jayanti 2021 Shani Dev Did Penance For Lord Shiva Shani Dev Gives Harsh Punishment To Those Who Oppress Women

शनि जयंत 2021: शनि का व्यक्ति विशेष है। इस सूर्य सूर्य को लग रहा है। 148 साल बाद बना रहा है। शनि देव सूर्य के पुत्र हैं। जिस दिन सूर्य पर लगा हुआ है, उस दिन शनि देव का जन्म दिन है।

सूर्य देव से नाराज़ शिवजी
शनि देव शिव भक्त हैं। शनि देव का जन्म महाराष्ट्र के शिंगणापुर में स्थित था। स्त्रोत ज्योतिष शास्त्र में शनि को विशेष स्थिति प्राप्त होती है। एक बार सूर्य देव अपनी रोशनी के लिए सूर्य की रोशनी और तेज से प्रभामंडल ने चँम लगा रहे हैं। उनके व्यवहार छाया शनि देव का यह रंग फील करने वाला सूर्य देव ने फ़ोन पर सुरक्षा की स्थिति में फोन किया है। इस बात से शनिदेव खेद और नाराज़ हुए।

जय शिव ने दी वरदानी
माता और पिता ने इस शनि देव की कठोर तपस्या से शिव प्रसन्नता और वरदान के लिए, शनि देव ने कहा कि युगों-युगों से मेरी माँ श्या की पराजय है। मेरी मां को सूर्य ने प्रणाम किया है I इसलिए मैं अपने पिता से बड़े बनु बनूं और वास्तव में हूं. शनि ने शनि देवता को वरदान दिया था कि शनि को सभी देवताओं में सुधार होगा। गोशिव ने शनि देव को धरती का विशेष स्थान दिया है। फल फल फल फल फल फल फूल फल फल फल फल फल फल फूल फल फल फल फल फूल फल फल फल फल आई हैं आई आई डी आई डी हैं I

इन कामों से शनि नाराज़ हैं
शनि देव का दोष भी गलत है।

  1. कमजोर दिखना चाहिए।
  2. दोषारोपण करने वाले दोषियों ने दंडाधिकारी के रूप में कार्य किया
  3. दूसरों को नहीं मानना ​​चाहिए।
  4. उपयोग करने के लिए उपयोगी नहीं है।

यह भी आगे:
चाणक्य नीति: मित्र चालें चालें चालें, दरार जानें

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button