Panchaang Puraan

Shani Dhaiya 2021 to 2025: These zodiac signs will come under the grip of Shani Dhaiya till 2021 to 2025 know who will get salvation – Astrology in Hindi

कुंडली में शनि की स्थिति और चाल का शुभ-अशुभ प्रभाव है। शनि की साती की तरह ही इस तरह के सन ढैय्या भी है। शनि के जन्म कुंडली में शुभ व उच्च होने पर शनि ढैय्या शुभ फली हैं। शनि के विपरीत होने पर जातकों को सम्मोहन करना पड़ता है। जब किसी राशि परिवर्तन में शनि ग्रह अष्टम भाव में होगा तो यह स्थिति सन ढैय्या है। जब आपकी राशि परिवर्तन में किसी भी प्रकार से शनि, षष्ठी और एकादश भाव में हो तो यह स्थिति बदल सकती है। जानिए रहेगी राशि रहेगी

साल 2021 में मिथुन राशि वाले शनि ग्रह ढैय्या में बदल रहे हैं। शनि मकर राशि में विराजमान हैं। शनि की तिथि को पूरा करने के लिए धनु, मकर राशि और मकर राशि। शनि में मकर राशि में वक्री चलने वाले होते हैं।

साल 2022 में शनि मकर राशि में मकर राशि में आ गया है। कैसे कर्क और वृश्चिक राशि के व्यक्ति पर शनि ढैय्या शुरू होगा। इस मकर राशि, और मीन राशि वालों पर शनि की शांती तिथि।

साल 2023 और 2024 में शनि का कोई भी परिवर्तन नहीं होगा।

29 मार्च 2025 को शनि मीन राशि में गोचर। कैसे सिंह और धनु राशिफल पर शनि ढैय्या शुरू होगा। मीन राशि और मीन राशि वालों पर शनि ढैय्या अपडेट। मकर राशि शनि ढैय्या से मुक्ति पा।

ज्योतिष शास्त्र में शनि का महत्व-

शनि को कर्म फल फलित होता है। शरीर के लिए आवश्यक हैं अगर हम ऐसा करते हैं तो हम अपने शरीर के हिसाब से इसे बंद कर सकते हैं। शनिदेव की नज़र से नज़र डालने के लिए दोष से दूर दृष्टि दोष होना चाहिए। शनिदेव की अराधना के लिए एक विशेष दिन है। शनि राशि से संबंधित क्षेत्र में जाने वाले व्यक्ति को एक ही समय में रखना चाहिए, यदि एक खाता एक ही खाता है 30 साल में।

इस तथ्य से पूरी जानकारी मिलती है कि ये पूर्णतया सत्य और हैं। क्षेत्र से संबंधित क्षेत्र के जानकारों में शामिल हों।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button