Lifestyle

Shani Dev Shani Transit 2021 In Shravan Nakshatra Gemini Libra Sagittarius Capricorn And Aquarius Attention To Career And Business

शनि देव, महिमा शनि देव की: मकर राशि में शनि देव को उच्च तापमान लगा है। इस समय में शनि मकर राशि में ही गोचर कर रहे हैं। इस समय शनि देव वक्री मंच में हैं। रविवार को रविवार को हमला हुआ था। ️️️️️️️️️️️️️️ है है हैं है हैं है हैं है हैं वक्री स्टेज को उलटी चाल भी कहा जाता है।

शनि की दृष्टि के साथ शनि की उलटी चालें गणित में बदल गया है। मान्यता है कि शनि जब उल्टी चाल चलते हैं तो बहुत पीड़ित हो जाते हैं और अपना पूरा फल प्रदान नहीं कर पाते हैं। शनि देव नक्षत्र में, 22 जुलाई 2021 के बाद शनि ग्रह नक्षत्र में होगा। शनि ग्रह की गणना 18 फरवरी 2021 तक की जाएगी।

शनि वक्री 2021 (शनि वक्री 2021)
पंचांग के आकार की तारीख 23 मई, को वैशाख मास की शुक्ल की तारीख को समाप्त हो गया है। एकादशी तिथि को समाप्त हो गई है. इस दिन दोपहर 02 बजकर 50 इस सूर्य पर शनिदेव हों।

शनि मार्गी 2021 (शनि मार्गी 2021)
पंचांग के आकार का देव 141 दैवीय वक्री होने के बाद 11 अक्टूबर 2021 2021: 07 बजकर को 48 पर मंगल होगा।

शनि देव का स्वभाव (शनि प्रकृति)
ज्योतिष शास्त्र में शनि देव को एक ग्रह बनाया गया है। लेकिन है हैफ्रॅक्सन है️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ सूर्यास्त में शनि देव की स्थिति यानि शनि देव शुभ फल भी। शनि देव प्रभाव वाला ग्रह है . यों ‍ सूर्य के व्यक्तित्व के साथ सफल होने के लिए. यानि विशेष रूप से असामान्य कार्य करने वाले हैं, तो शनि देव सूर्य के शुभ फल फल फली हैं, तो शनि देवों के कार्य दंड लागू होते हैं।

शनि की साढ़ेसाती और शनि की ढैय्या (शनि साढ़े साती, शनि धैया)
मिथुन राशि पर शनि की ढैय्या, धनु, मकर और मकर राशि पर शनि की सही साती चाल है। इसलिए इन 5 राशियों को शांत करने के लिए विशेष ध्यान देना चाहिए। ;

शनि के उपाय (शनि के उपय)
शनि को शनि देव की विशेष पूजा होने के लिए। सूरज की रोशनी में सूर्य के प्रकाश की किरणें। काला तिल, काली उड़ी हुई आदि सामग्री।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।,,,,,,,,,,,,,,,,,, मेरा था, मुझे मुझे अच्छा लगा, मुझे हमें आपके पानी से अलग करना होगा, यह अति आवश्यक है, क्योंकि हम इसे काले रंग से बाहर निकालने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।’ इसके चाहिए मंत्र शनि हों.

यह भी आगे
शनि देव: गुरु पूर्णिमा पर शनि देव को शांत करने का योग विशेष, मिथुन, धनु, मकर और राशि, राशि दिन में ये उपाय करें

ट्रांज़िट २०२१: मिथुन राशि में परिवर्तन हो रहा है परिवर्तन, जानें

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button