Lifestyle

Shani Dev Sawan Saturday 07 August Shani Dev Is Done By Shani Chalisa And Shani Mantra Theres Is Shani Dhaiya On Gemini And Libra

शनि देव, महिमा शनि देव की: शनि ग्रह आने वाला समय आने वाला है। 07 अगस्त 2021 को सप्तमी का दिन है। पंचांग के दिन सावन मास यानि श्रावण मास कृष्ण की चतुर्दशी तिथि तिथि है। सावन का कीट शिव का प्रिय मौसम अनुकूल है। लेकिन शनि देव प्रसन्न।

शनि देव की कहानी
शनि देव ने शिव को प्रसन्न करने के लिए तपस्या की थी। शनि देव सूर्य पुत्री हैं। सूर्य देव ने शनि की माता का मान किया है। कैसे शनि देव के पिता से नाराज हो गए और शिव की तपस्या की। तपस्या में शनि देव ने अपने जले हुए। खुश शिव शनि देव ने प्रसन्नता और वरदान को दिया। शनि देव ने अपने भविष्य के बारे में बताया है। इस पर शिव ने शनि देव को पृथ्वी और नवग्रहों का वातावरण बनाया है।

गो शिव की पूजा से सुसज्जित हैं शनि देव
है कि शनि देव शिव की पूजा से शांत हैं। गोक कालभैरव और हनुमान जी के शिव का ही आवर्तक मान हैं। तापमान इन बैठने की व्यवस्था से शनि देव शांत हैं। सावन का मंतव्य शिव को सम्मान है। इस प्रकार इस ग्रह पर प्रसन्नता होगी।

इन 5 राशियों पर शनि की दृष्टि है
मिथुन और तुला राशि पर शनि की ढैय्या, धनु, मकर और मकर राशि पर शनि की सही चाल है। इसके️ इसके️ इसके️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ हैं हैं हैं उन्हें हैं उन्हें हैं उन्हें हैं या हैं शनि देव की पूजा से हैं।

शनि के उपाय
07 अगस्त 2021 को सूर्य के सूर्य मंदिर में शनि देव पर रोशनी और सूर्य का प्रकाश का तापमान। अंतिम शनि चालीसा, शनि आरती और शनि मंत्र का जाप करें। शनि देव ️ चीजों️ चीजों️️️️️️️️

शनि मंत्र (शनि मंत्र)
-ॐ शं नो देवीरभिष्टय आप भवन्तु पीतये। शं योरभि स्त्रावन्तु न:.
-ॐ प्रीं प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम:।
-ॐ शं शनैश्चराय नम: है।
-नीलांजसमाभासं सूर्यपुत्र यमाग्रजम, श्यामार्तंड सम्पादितं भूत नं नमामि शनैश्चरम।

यह भी आगे:
सावन शिवरात्रि 2021: सावन शिवरात्रि 06 अगस्त, जानें शिवजी पूजा की शुभ मुहूर्त

करवा चौथ 2021: कार्तिक मास की तिथि समाप्त हो चुकी है करवा चौथ, शुभ मुहुर्त

चंद्र ग्रहण 2021: 19 नवंबर को लग रहा है साल का आखिरी चंद्र, कर्क, धनु और कुंभ राशि वाले न हों ये काम, राशिफल

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button