Panchaang Puraan

sawan start 2021 date in india shiv ka mahina puja vidhi bhagwan shankar aarti lyrics – Astrology in Hindi

शिव आरती गीत: 25 नवंबर से शुरू होने वाले संदेश की पहचान करने के लिए काम करना होता है। 25 जुलाई 22 नवंबर तक सावन का मौसम। सावन के हिसाब से कानून- व्यवस्था से भोलेनाथ की पूजा-अर्चना की। सावन के जानने में भोलेनाथ की पूजा- भोलेनाथ को खुश करने के लिए शिव की ये आरती लिखें। आरती को भोलेनाथ की विशेष कृपा प्राप्त होती है।

6 मंगल ग्रह पर नरभक्षण में, देखें क्या आपकी सक्रियता मंगल देव का प्रभाव

  • शिवजी की आरती

ॐ जय शिव ओंकारा, स्वामी जय शिव ओंकारा।
ब्रह्म, विष्णु, सदाशिव, गंगा धारा॥
जय शिव ओंकारा

एकान चतुर्दशी पंचानन राजे।
हंसासन गरुड़ासन वृषवाहन साजे
जय शिव ओंकारा॥

दो भुज चतुर्भुज दसभुज अति सोहे।
त्रिगुण रूप निरखते त्रिभुवन जन मोहे॥
जय शिव ओंकारा॥

वनमाला मुण्डमाला वारी.
कंसरी कंसारी कर मलिकारी॥
ॐ जय शिव ओंकारा

श्वेता अक्टूबर, बाघ अक्टूबर अंगे।
सनकदिक गरुणादिक भूतियादिक संगे
जय शिव ओंकारा॥

कर के मध्य कमण्डलु चक्र त्रिशूलधारी।
सुखी दुखहारी जगपालन फसली
ॐ जय शिव ओंकारा

ब्रह्म सदाशिव जनत अववेका।
मधु- दोभ दोउ, सुरभयभय करे॥
जय शिव ओंकारा॥

लक्ष्मी व सावित्री पार्वती संगा।
पार्वती गणेशांगी, शिवलहरी
जय शिव ओंकारा

पर्वत सोहैं पार्वती, शंकर कैलासा।
भांग धतूर के खाने, भस्मी में वासा
ॐ जय शिव ओंकारा

जटा में गंग बहत है, गल मुण्डन मलिका।
शेषनाग लेपवत, ओढ़त मृगछाला॥
जय शिव ओंकारा

.

Related Articles

Back to top button