Panchaang Puraan

sawan month masik kalashtami vrat date puja vidhi importance significance shubh muhrat – Astrology in Hindi – Masik Kalashtami Vrat : मासिक कालाष्टमी कल, यहां देखें शुभ मुहूर्त, पूजा

सावन मास मासिक कालाष्टमी व्रत 2021: हर माह रक्त को काला करता है। 31 जुलाई को गुप्त समाचार प्रकाशित हो चुकी है।. अष्टमी को तारीख की तारीख तय है। कृष्ण की अष्टमी तिथि तिथि तिथि तिथि है: गोकू भैरव भोलेशंकर के ही शब्द हैं. कालाष्टमी को भी भैरवी है। इस दिन व्यवस्था- व्यवस्था से भैरव की पूजा- इस समय। संपूर्ण भैरव की कृपाण से पूरी तरह से छुटकारा पाने के लिए। आइए कालाष्टमी व्रत पूजा-विधि, महत्व और शुभ मुहूर्त…

मुहूर्त-

  • श्रावण, कृष्ण अष्टमी – 05:40 ए, नवंबर 31
  • श्रावण, कृष्ण अष्टमी फाइनल – 07:56 ए एम, अगस्त 01

सावन का पहला पहला कल, मकर, कुंभ, धनु, मिठाइयां और लोग जरूर देखें ये छोटे सा उपाय

महत्व…

  • इस पावन कार्य को भैरव की पूजा से सभी प्रकार के भय से मुक्ति मिलती है।
  • कालाष्टमी के दिन व्रत करने वाले शुभ फल की रोशनी में ऐसा होता है।
  • भैरव बाबा की कृपा से समाप्त हो गया है।

पूजा-विधि…

  • सुबह जल्दी उठे।
  • अगर दिन
  • घर के मंदिर में दीपक प्रज्वलित करें।
  • इस समय कोरोना चेच जाना घर ????
  • इस दिन पूजा शंकर की भी विधि- इस व्यवस्था से पूजा- क्रचन।
  • गोकू के साथ माता पार्वती और गणेश की पूजा- शंकर भी।
  • आरती करें और भोज भी ग्रहण करें। इस बात का पूरा-सुखारा अच्छाई का ऋतिक का भोग पूरी तरह से अच्छा है।

इस योजना में शामिल होने के लिए 210

इन शुभ मुहूर्तों में पूजा- क्रंच-

  • ब्रह्म मुहूर्त- 04:18 ए एम से 05:00 ए एम
  • अभिजित मुहूर्त- 12:00 पी एम से 12:54 पी एम
  • विजय मुहूर्त– 02:42 पी एम से 03:37 पी एम
  • गोधूलि मुहूर्त– 06:59 पी एम से 07:23 पी एम
  • अमृत ​​काल– 08:39 ए एम से 10:26 ए एम

संबंधित खबरें

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button