Lifestyle

Sawan Masik Shivratri 2021 Date Time Puja Vidhi Shubh Muhurat Importance Significance

सावन मासिक शिवरात्रि 2021: हरियाणा पंचांग के क्षे, हर की कृष्ण तिथि तिथि को निश्चित तिथि को समाप्त होने वाला है। इन सक्रियता शिवरात्रि में सौवन में लाल शिवरात्रि का विशेष महत्व होता है। ६ अगस्त को. इस शिव भक्त भोलेशंकर की विधि –विधान से पूजा और जलाभिषेक करें और भक्त पूरे पूरे का ध्यान करें।

परिवार के सदस्यों के रूप में कार्य करने के लिए सभी मनोनीत कार्य पूर्ण होते हैं और आनंद से परिपूर्ण होते हैं। जानें जानें सावन शिवरात्रि पूजा व अभिषेक के लिए मुहूर्त, पूजा- शुभ विधि और महत्व।

सावन शिवरात्रि का शुभ मुहूर्त

  • सावन मास की कृष्ण चतुर्दशी तारीख का प्रेत: 06 अगस्त को शाम 06 बजकर 28 मिनट से
  • सावन मास की कृष्ण चतुर्दशी तारीख की टोक: 07 अगस्त की शाम 07 बजकर 11 पर
  • ब्रह्म मुहूर्तआज 6 अगस्त को प्रातः काल 4:20 बजे से 05:03 बजे तक
  • अभिजित मुहूर्त6 अगस्त सुबह 12 बजे से 12:54 बजे तक

  • सर्वार्थ सिद्धि योग7 अगस्त 06:38 आज से 05:46
  • अमृत काल7 अगस्त को शाम 5:42 बजे से 07:25 बजे तक
  • निशिता मुहूर्त7 अगस्त को 12:06 तक आज तक 12:48 बजे तक

पूजा विशेष: शिवरात्रि की पूजा निशिता अवधि में अनंतशुभ होता है।

महत्व

सावन शिवरात्रि के शिव की पूजा और जलभिषेक का अधिक महत्व है। ️ मान्यता️ मान्यता️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ उठा करं भक्तों परिवार जीवन सुखमय बन रहा है। पूजा जीवन आनंदमयी हो।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button