Panchaang Puraan

Sawan 2021 3rd Somwar: Today is the third Monday of Sawan do not worship Bholenath even by forgetting it in these Muhurat – Astrology in Hindi

सावन का मौसम आज, 09 अगस्त 2021 को। साल सावन में कुल 4 इस दुबले थे। यह सावन के शुक्लों का सबसे पहला मस्तक है। हिंद पंचांग के गर्भ में, सावन के मासिक की शुरुआत होती है। शंकर की विधि-विधान से पूजा से भक्त को शनि की तरह दिखने वाले हैं। ऐसा करने से भगवान शिव की कृपा से सभी मनोकामनाएं भी पूरी होती हैं।

सावन के मस्तूल का शुभ मुहूर्त-

पंचांग के आकार का, सावन का मंगलवार 9 अगस्त और सावन का वर्तन 16 अगस्त को बना। सावन के सुबह की शुरुआत में अलाला में शुरुआत होती है, जो कि 09 बजकर 05 तक पूरी होती है। इस शुक्ल क्लब की प्रतिपदा और तिथि समाप्त हो गई है। आजिजित मुहूर्त 11.37 बजे से 12.30 तक. ज्योतिष

सावन पूजा-विधि

सुबह उठने के बाद और बार फिर से साफ करें।
घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
सभी देवी- गंगा जल से प्रार्थना करें।
शिवलिंग में गंगा जल और दुधारुएं।
शिव को सूचित करें।
जकू शिव को समाचार पत्र।
गो शिव की आरती और भोग भी। इस बात का भी ध्यान रखें कि सात साती का भोजन का भोग पूरी तरह से ठीक है।
गो शिव का अधिक से अधिक ध्यान दें।

आज के मुहूर्त-

रूटू काल- सुबह 07 बजकर 30 से 09 बजे तक।
यमगंद- सुबह 10 बजकर 30 से 12 बजे तक।
गुलिक काल- सुबह 01 बजकर 30 से 03 बजे तक।
धुरमुहूर्त्य काल- सुबह 12 बजकर 53 से 01 बजकर 46 बजे तक सुबह 03 बजकर 33 से 04 बजकर 26 तक।
वरज्य काल-रात 09 बजकर 52 से 11 बजकर 28 तक।

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button