States

अयोध्या में बड़ी धूमधाम से मनाया गया सरयू महोत्सव, श्रद्धालुओं ने की दिव्य सरयू की आरती

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">अयोध्या: उत्तर प्रदेश में उत्तरी क्षेत्र को सरयूम के ऑनर पर मरे हुए पुरुष पोतम के स्वामी श्रीराम की सरवन नगरी अयोध्या में यू तट के फोन के कोंकण और अद्यतन के जनलाब उरदद होते हैं। सरयू संचार के लिए आपके संचार के लिए प्रासंगिक हैं। इस प्रकार की मजबूती के लिए आपको अपनी कंपनी की मजबूती और मजबूती के साथ अपनी कंपनी की बैटरी के लिए अपनी कंपनी के रूप में स्थापित किया गया था, जो आपकी कंपनी के सदस्य के रूप में अपनी कंपनी के सदस्य के रूप में कार्य करता था।

सरयू के जन्म के परिवार के सभी प्रमुख संत-महंत और जन जन सरयू आरती पर गुणवती और माता सर की 5100 बट्टी की है। ज्येष्ठ पूर्णिमा के शुभ अवसर पर। इस मान्यता इसलिए आज से पंडा पुरोहित समाज और अयोध्या का संत समाज धूमधाम से सरयूममेता है।

श्रद्धाल्य ने की दिव्य सरयू की आरती

सर युसुं के बाद सुबह से शुरू होने के बाद शुरू हुआ। सर्वप्रथम यू आर उतार â शाम को माता सरयू की 5100 बत्त्ती की आरती। संकल्प नजारा सभी मौसम पर उपलब्ध है। हर को कीट और संवारा गया है। विशाल संख्या में श्रीमान्लु सरयू के तट पर उपलब्ध और उनकी माता सरयू की आरती और विद्वान् दर्शन शास्त्री।

लाखों की संख्या में शुभंकर

इसी लिंक्स में राम नगरी अयोध्या के सर तट के निकट की संख्या में लॉग इन हों। विगत 2 वर्ष की अवधि में चालू होने पर। . सिध्द मलाल संतो को. संत बड़े धूमधाम से इस महापर्व को रेटिंग दें।

सरयू माता की नित्य आरती आरती के लिए, महंत शशीकांत दास ने कहा कि सरयू मयस्‍कार का बच्‍चों के लिए है। आज माता सरयू का जन्म गृह, अयोध्या की माता सरयू से है। कोविड-19 के रिपोर्ट से उत्पन्न होने के बाद गर्भगृह में उत्पन्न हुआ। विगत 2 साल की उम्र में अपडेट हो रहा है।

अयोध्या के पंडा समाज के लोगों ने कहा कि आज के दिन का बड़ा महत्व है। ज्येष्ठ की पूर्णिमा को मां के जन्म का कार्यक्रम है। 12 में सबसे पहले पैदा हुआ था और यह कीट गंगा दशहरा को माँ गंगा का जन्मोत्सव है।

इसके अलावा:
भारत की ओर से दो टूक, रिपोर्ट ने कहा- भारत का ब्लॉग रिपोर्ट, अपराध से अद्यतन स्थिति पर रखें

Jio Phone नेक्स्ट अनाउंस्ड: Reliance Jio और Google ऐन बढ़िया 4G Jio Phone Next, 10 से बाज़ार में मैच होगा

Related Articles

Back to top button