Panchaang Puraan

sankashti chaturthi august 2021 bhadrapada mas month puja vidhi ganesh ji ki aarti moonrise time chandrodaya ka samay – Astrology in Hindi

संकष्टी चतुर्थी : आज संकष्टी चतुर्थी। इस समय भाद्र पद पर चलने वाला है। भाद्र मास के कृष्ण चतुर्थी तिथि को संकष्टी चतुर्थी का व्रत है। इस उत्सव को मास्क से गणेश की विशेष प्राप्ति होती है। गौना गणेशी देवता हैं। गुक गणेश की कृपा से सभी प्रकार के विघ्न दूर हो जाते हैं। गोकू को गणेश की आकृति के लिए गणेश की आरती करणी।

  • गणेश जी की आरती

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पापा महादेवा।।

एकदंत, दयावन्त, बंध्याचारी,
मैं सिन्दूर सोहे, मौस की आदत।
पान पेये, फूले प्रसाद और प्रसादी मेवा,
लड्डूअन का भोजनालय, सन्त सेवा।। ..
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश, देवा।
माता जाकी पार्वती, पापा महादेवा।।

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया,
बंझन को पौत्र, निरधन को माया।
‘सूर’ श्यामा शरण, सप कीजे सेवा।।
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा ..
माता जाकी पार्वती, पापा महादेवा।

दीन की लाज, शंभु सुतकारी।
सुन को पूर्ण करो जय बलिहारी।

करवा चौथ 2021 : कब है करवा चौथ? जांच सूची और जांच की स्थिति का समय

संकष्टी चतुर्थी पर पूजा की भी व्यवस्था है। इस दिन की व्यवस्था- व्यवस्था की पूजा-अर्चना भी।

  • चंद्रोदय का समय – शाम 8 बजकर 50 मिनट पर
  • समय के अस्त होने का समय – 26 अगस्त को प्रात: काल 08 बजकर 24 पर।

.

Related Articles

Back to top button