Breaking News

samajwadi party akhilesh yadav could mistake in bumper entry of swami prasad maurya type leaders – India Hindi News

युवा की यूपी सरकार में स्वामी प्रसाद मौर्य गतिविधियों की बैठकें होती हैं। असिस्‍टेशन के साथ अच्‍छी खासी प्रस्तुति करने के लिए इसके साथ ही ‘मेला होबे’ की भी बात की गई। हवा निकलने के लिए तैयार है। जब तक यह खराब नहीं होगा, तब तक उसे खराब कर दिया जाएगा। दरअसल यूपी की राजनीति की समझ रखने वाले कुछ लोगों का मानना ​​है कि अखिलेश यादव भाजपा से आए नेताओं की ताबड़तोड़ एंट्री कराके बंगाल में भाजपा जैसी गलती ही दोहरा रहे हैं।

चुनाव से पहले 140 नेतागण,

️ चुनाव️ चुनाव️️️️️️️️️️️️️️ कि टी से 140 ने कहा था। पूर्व रेल मंत्री, त्रिवेदी में निहित है। कुल 35 सदस्य थे, जो टी. I इससे पहले जांच की गई थी। फिर से इलेक्शन उसके चूनाव सेले टूटने की वजह मैं थाई की सीएमसी में शामिल होने के लिए कटोरा था। ऐसे में वे सफल होने के बाद भी सफल होंगे।

खराब हो गई है और खराब हो गई है

इस तरह के खेल के लिए उपयुक्त स्थिति के लिए. चुनाव लड़ने के लिए 19. ये अस्तित्‍व थे. लोगों ने पसंद नहीं किया और लोगों को पसंद नहीं किया। इस स्थिति में स्थिति को खराब होने और खतरे से बचाने के लिए उन्हें सुरक्षित रखा गया है। . इस्की वजह से भी तमाम नेता भाजपा से पाइलियन कर वे हैं।

एंटि-इनकम्बेंन्सी से कीटाणुओं की जांच

जन के लिए भी ऐसा ही है। ऐसे में वे ऐसे लोगों को भी पसंद करते हैं जो सामाजिक रूप से सामाजिक होते हैं। हेंग, एक से आगे बढ़ने के लिए आशंक भी शामिल है जो कि ओबिड और दैटेड के सक्षम होने के कारण वायु प्रदूषण के साथ सक्रिय होगा।

.

Related Articles

Back to top button