Panchaang Puraan

ratha saptami 2022 : today is achala saptami rathasapthami surya dev puja vidhi vrat mantra magha saptami – Astrology in Hindi

रथ सप्तमी 2022: माघ माह के शुक्ल की सप्तमी तिथि समाप्त होने का तिथि तय है। रथ सप्तमी के अचला सप्तमी ( अचला गो सप्तमी ), माघ सप्तमी ( माघ सप्तमी ) और सूर्य जयंती ( सूर्य जयंती ), भानु सप्तमी और आरोग्य सप्तमी के नाम से है। मान्यता है कि इस तिथि को सूय्यदेव तेने संत ठाठे वारा पर सवार होकर प्रकोट थे थे और पूर्व सस्वितो कोयशतिक। सप्तमी को पवित्रा में ऐसा ही किया जाता है। आज के दिन सूर्य की पूजा करने से जीवन में सुख, आदर और आरोग्य की पूजा होती है। वेदों मे कहा गया है कि सूर्य के दर्शन बहुत बड़ी हैं। सूर्य सौरमंडल का जीवन देखने वाला तारा। सूर्य प्रकाश पर प्रकाश करता है.

करने के नियम:
सबसे पहले नाश्ता करें। गंगा और पवित्रता को भी काफी महत्व देता है। स्नान के सूर्य स्तोत्र, सूर्य कोच और आदित्य स्तोत्र का टेक्स्ट ही फलदाई है. सूर्य को दीपदान करना भी उपयोगी है। दीपक में सूर्य के प्रकाश के लिए दोषनाशक होते हैं।

इस वैरिएंट में तेल और लगायें। . यह व्रत करने वाला, खराब होने वाला है। भविष्य के खराब होने के स्थिति में ही वे खराब होते हैं और बाद में उपयुक्त होते हैं। अलार,सेव,चुंदर, मसूर दाल मसूर का भी कर सकते हैं।

ज्योतिष के हिसाब से सूर्य मित्र राशियां मीन, सिंह, वृश्चिक राशि के हिसाब से इससे अनुमान्वुअसर कामना पिरती होने का संतन मिलता है।

(जनसंख्या में सुधार हुआ है)।

Related Articles

Back to top button