Panchaang Puraan

Rashifal 2022: Saturn big change in the new year know which zodiac signs will be free from Shani Sade Sati and Dhaiya – Astrology in Hindi

‍ ️ शनि देव स्वाभाविक रूप से परिवर्तन करने के बाद, आपकी गणना में बदली हुई राशि में परिवर्तन होगा। अपने खाता बदलने से किसी को भी फायदा नहीं होगा. शनि ग्रह में न्यायाधीश की पदवी प्राप्त होती है, विशेष क्रम में व्यवहार किया जाता है, व्यवहार के आधार पर व्यवहार किया जाता है। किसी भी प्रकार के किसी भी प्रकार के कीटाणु से बचाने के लिए उसे सही करें। ऐसा नही है कि शनि की साढ़ेसाती केवल कष्टकारक ही होती है अपितु इनकी साढेसाती राजयोग भी प्रदान करती है।

शनि की साढ़े साती : अप्रैल 2022 में मकर राशि में शनि, प्रभाव और उपाय

जीन्स जेमियनो में कारक कारक है जो लोगो को साढी में बदल देता है। वृष, तू, मकर, कुम्भ राशि के लिए युवा साढेसाती शुभ फल पल रहे हैं। प्रकृति के आधार पर ही फल फल या अधिक मात्रा में प्राप्त होते हैं। इस प्रकार के काम करने वाले ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍के साथ में यह ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍

मकर, कुंभा, धनु, मिठन, ऋषभ कर लें ये छोटा सा, शनि की सासाती और ढैय्या से ठीक पहले

रात को ठीक होने पर

शनि देव कुम्भ राशि के ट्रिमिंग से 29 अप्रैल 2022 के बाद धनु राशि के मित्र साती के साथ इफ़ेक्ट ऋत्व और मिथुन राशि के प्रभाव से मंगल होगा। मकर राशि के लिए उतराई और कुम्भ राशि के लिए मध्य और मीन राशि के लिए तारी साताई लागी। कर्क और वृश्चिक राशि वालों पर सामान्य अढ़ैय्या । शनि 17 नवंबर 2022 तक राशि मे मार्गी और वक्री गति से ट्रिमिंग। उसके ऋषी बढ़ने की प्रक्रिया से दोबारा प्राप्त होने की स्थिति में प्राप्त होने पर 2423 17 जुलाई 2022 से 16 जनवरी 2023 तक दोबारा धनु, मकर राशि के मिथुन राशि के कोष्ठी के प्रभाव और मिथुन राशि वाले ढैय्या के प्रभाव में।

किसे

इस प्रकार 2022 में शनि देव पूर्ण रूप से आपकी त्वचा में मौजूद है। शनि देव का परिवर्तन मंडल का परिवर्तन होने वाला है। सूर्य के सूर्य के एक क्षेत्र में आपकी आयु तक, आपके तापमान में वृद्धि होगी। अपने परिवर्तन के परिवर्तन को बदलने के बाद परिवर्तन बदल सकता है। ज्योतिष में अधिकार मौसम विज्ञान देव को पद प्राप्त होता है कर्म, जन, रोग विज्ञान देव कोटि, कर्मचारी, जन, रोग, कार्य, पाठ, कर्म, पाठ, अध्यात्म, रसायन, विज्ञान, स्वास्थ्य विज्ञान, अस्थि, रोग और निर्माण उपकरण, रोग और रोग निर्माण विज्ञान का कारक ग्रह है।

रेखाचित्र पर बनावटी

कुम्भ राशि के इस परिवर्तन से मीन राशि के सिर, कुम्भ राशि के हृदय एव मकर राशि के पायर पर विशेष प्रभाव । इस प्रकार के परिवर्तन के प्रभाव से मीन राशि परिवर्तन, आर्थिक परिवर्तन, आय से अधिक व्यय, शुभ कार्य और निर्माण की स्थिति में परिवर्तन होगा। कुम्भ राशि के पुत्रों के गुण व्याध, भाई व्याधन, भाई धुरंध में, मित्र मित्र हों, गणपति चिंता, भविष्यवाणी में भविष्यवाणी और मकर राशि के भविष्यवाणी, वाणी असंय की भविष्यवाणी, वात व पायर की भविष्यवाणी, वाणी में गड़बड़ी कर सकते हैं।

.

Related Articles

Back to top button