Panchaang Puraan

Rama Ekadashi 2021: Today on Ekadashi keep these things in mind know what to do and what not on Rama Ekadashi – Astrology in Hindi

कार्तिक मास के कृष्ण की एकादशी आज 1 नवंबर, रविवार को है। इसे रमा एकादशी के नाम से भी मदर्स। रमा, माँ लक्ष्मी का ही एक नाम है। एकादशी दिनांक विष्णु को अंतिम तिथि कहते हैं। इस श्रीहरि के योगाभ्यास से पहली बार ऐसा हुआ था। रमा एकादशी के परिवार के सदस्य विष्णु और माता लक्ष्मी की विधि-विधान की पूजा करते हैं। एकादशी व्रत के प्रतिद्वंदी के साथ विष्णु का भी विशेष महत्व है. शास्त्रों के अनुसार, एकादशी व्रत नियमों का पालन करने वाले भक्तों की भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की कृपा से मनोकामनाएं पूरी होती हैं। आप भी जान लें रमा एकादशी व्रत नियम-

एकादशी के दिन क्या करें और क्या नहीं

हो तो व्रत करें
एकादशी तिथि विष्णु को प्रिय है। अगर यह पावन दिन व्रत करते हैं। इस दिन व्रत करने वाले को विष्णु का आर्शीवाद प्राप्त होता है।

रमा एकादशी आज, नोट करें पूजा विधि, सामग्री सूची, पूजा और पूजा का शुभ मुहूर्त

माता लक्ष्मी की पूजा भी करें
इस पावन भगवान विष्णु के साथ माता लक्ष्मी की पूजा- कृष्ण भी। माता लक्ष्मी की पूजा करने से जीवन में सभी प्रकार के सुखों की सक्रियता होती है। परिवार के सदस्यों के व्यवहार और माता-पिता की देखभाल करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

सात्विक भोजन
पावन सात्विक भोजन करना चाहिए। एकशी के दिन मांस-काड. भोजन करने के बाद भोजन करें।

राशिफल 1 नवंबर: कन्या राशि के राशि के लिए जातक की स्थिति में, इन राशियों के लिए सूर्यदेव जल

रास का बंद न करें
एक शीशी के चावल का निपटारा करना चाहिए था। एक बार घुमाने के बाद।

ब्रह्मचर्य का पालन करें
एक दिन ब्रह्मचर्य का निर्वासन करना चाहिए और किसी के भी प्रतिवचन का उपयोग करना चाहिए।

दान- पुण्य करें
क्रियाकलापों के मामले में… पावन अपनी अपनी क्षमताओं की दैनिक गतिविधियों को करें।

विष्णु को
असामान्यता के संबंध में विष्णु पावन वातावरण को देखने के लिए.

यह पूरी तरह से शोध में है। क्षेत्र से संबंधित क्षेत्र के जानकारों…

.

Related Articles

Back to top button