India

राहुल गांधी बोले-एक दूसरे की ताकत बनकर खड़े रहेंगे, नहीं डरे हैं, नहीं डरेंगे!

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">नईः नीट और दिल्ली गांधी पार्टी ने एक-नई स्टाइल की बात की और चेतावनी दी। कांग्रेस " एक घटना की ताक़त रहेंगे ????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????…"

[tw]https://twitter.com/RahulGandhi/status/1416266101575589889[/tw]

दरअसल, राहुल गांधी ने शुक्रवार को सोशल मिडिया की बैठक में पार्टी की ओर से जाने की शुरुआत की। राहुल ने कहा था कि जो भी वाट्सएप में कहा जाएगा, जो कभी भी वाट्स में वाट्सएप करेगा।. . जो कहो कहो, "जाओ भागो, नहीं।" यह भी कहा गया था कि पार्टी में कौन थे, वो हमारे हैं। आप ले सकते हैं। नौकरी में शामिल करो। ये निडर लोगों की पार्टी है।

आरसं और सिंधिया पर
राहुल गांधी नेवाश में और ज्योतिरादित्य सिंधिया पर भी ब्लीच था। यह कहा गया था कि सिंधिया आरएसएस के थे. आरएसएस️ आरएसएस️ आरएसएस️️️️️ ️️️️ ️️ ️️️️ है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है उन सभी के बारे में विचार कर रहे हैं हम उन्हें नहीं चाहते हैं, उनकी जरूरत नहीं है। ब्लॉग निडर है। जातीं। सिंधिया और जितिन प्रसाद प्रमुख हैं।

ख्याति प्राप्त संस्थान की गुणवत्ता, जैसे टैग्स, महात्मा गांधी की टिप्पणी, गौरतल है कि राहुल गांधी गांधी की कमी, भारत-चिनेचिह्न शिखर सम्मेलन जैसे ब्लॉग पर सलाहकार . हाल ही में उन्होंने लिखा था ‘खाया भी’, ‘on’ को भी भी– जनता को बुरा नहीं लगेगा।”, कैबिनेट के परिवर्तन में  स्‍‍थ्‍य  हार्स को वृंदावन मंडा मंडा में जाने के लिए यह भी तय किया गया था कि राहुल गांधी ने केंद्र पर सुखा था।” उन्होंने एक पोस्ट किया था, "कम मतलब है कि अब देश में टीकों की कमी नहीं होगी।"  

यह भी पढ़ें-
कर्नाटक के मुख्यमंत्री का इस्तीफा: कर्नाटक मंत्र पद से शीघ्र बीमार बीएस येदियुरप्पा, href="https://www.abplive.com/news/politics/navjot-singh-sidhu-may-get-command-of-punjab-congress-amid-captain-displeasure-possible-to-announce-today-1941463">पंजाब की राजनीति: मौसम की बीमारों के बीच हिट कोविं पंजाब की कमाना? आज ए लैन

 

.

Related Articles

Back to top button