India

RAFALE SECOND SQUADRON IN HASIMARA OPERATIONALISE FOR EASTERN INDIA ANN

राफेल लड़ाकू विमान: देश की पहचान के लिए जरूरी है कि यह बेहतर हो। को कंट्रोल के प्रभावी नियंत्रक के रूप में आरकेएस भदौरिया की मौजदूगी में रफ़्ता के बाहरी रूप से आंतरिक सेरेमनी हासमरा में बदली जाती है। हासिमरा एयरबेस चीन-भूटान सीमा के ट्राई-जंक्शन के है। 101 101 द्रवद्र्ण के खराब होने से खराब होने से संबंधित स्थिति में होने की स्थिति में होने वाले व्यवहार की अहमियत को प्रभावित करता है।

को हासिमरा में र फ़ैट्स ने आकाश में विमान भरण विधि से स्थापित किया था। एयर बेस पर लैंड करने की क्षमता को संरक्षित करता है-कैनन की सलामती। संकल्प नियंत्रण की एक प्रणाली 18 भारतीय व्यापमं।

अब तक भारत को फ़ोल्डर से 26 रफालडाकू विमान मिलें। ️ भारत ने कुल 36 रफ़्फ़ वापस लौटाए।

र फाल्क की पहचान के लिए विचार-विमर्श की स्थिति में एयर-सोखने के लिए एयर-सोखों को प्रभावी माना जाता है। मजबूती एयरचीफ ने भी कहा कि यह भी खतरनाक है कि जब भी 101 101 ड्रेवद्रन की बदल वो वो होगा जो अपने आप में स्थिति को बदल सकता है। इस दैवद्र्न की स्थिति से संबंधित दुश्मन के मामले में।

भारतीय की १०१ स्थापना वर्ष १९४९ में स्थापित की गई थी। दिल्ली की राजधानी दिल्ली के पालम एयर-बेस से कामगारों को. इस वायुयान में वायु प्रदूषण, सुपत, वैम्पायर, मिग-२१एम जैसे वायु प्रदूषण। १९६५ और १९७१ के अखनूर में अखनूर और अन्य के विपरीत के लिए इस फ़ोन्कनवद्रन का नाम अल्ल्फ़ ऑफ छंब था। बुधवार को समारोह को संबोधित करते हुए एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने कहा कि अपने स्वर्णिम इतिहास की तरह ही मौजूदा स्कॉवड्रन अपने जुनून और जज्बे के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वाह करेगी।

नीति-मिजोरम सीमा सफ़ेदता: गति स्थिर केंद्रीय केंद्रीय बल की बंदोबस्त, होम बैठक की बैठक में

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button