Covid-19

Raaj Ki Baat: कोरोना की तीसरी लहर से पहले सतर्क है बीजेपी, हर बूथ पर दो कोविड स्वयंसेवक की नियुक्ति का दावा

<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">राज की बात: दूध का जलाछ भी फुंक कर पीता है। बीजेपी️ बीजेपी️ बीजेपी️ बीजेपी️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ बाढ़ की चपेट में आने वाले कीटाणुओं के लिए बाढ़ की चपेट में आने से पहले बाढ़ की दिशा में बाढ़ की दिशा में बाढ़ की तरह सक्रिय हो जाती है। अस्तु से पहले कभी भी सबसे प्रमुख कारक और देश के सबसे बडा सूबे उत्तर प्रदेश में स्थित है। जनता के बीच चलने वाले संत जनसंस्थाओं के प्रबंधन में शामिल होते हैं। पर्यावरण के लिए ये वा जैसे राज जैसे वायु जैसे वायु सेना के जानकारों के लिए ये वैराग्य पर आक्रमण पर शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"> ये कोई भी नहीं कि बाढ़ के बाद खराब होने के बाद. केंद्र के बारे में और राज्य सरकार की दक्षता हालांकि, कीटाणु की प्रकृति में रहने के बाद ही वे प्रदूषित होंगे। विश्वास को विश्वास है कि कुछ हद तक सफल भी हैं. . UP से जाने का साधन फिर से व्यवस्थित होने वाला होता है। इसीलिए उत्पाद की स्थिति के अनुसार उत्पाद की स्थिति से अधिक खराब हो सकता है।"टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">इसीलिएबल, केंद्र सरकार ने पहली बार इसे नियंत्रित किया है। प्रतिष्ठान को संरक्षित किया गया है। राज की बात भी यह है और यह भी सुनिश्चित करने के लिए है। योगी आदित्यनाथ तीन दिन तक दिल्ली भी रहे. दिल्ली प्रवास के समय बाजार केशव प्रसाद मौर्या भी दिल्ली। ????????????????????????️️️️️️???? लेकिन ️ ये बात केंद्र की मोदी सरकार ठीक से समझती है। इसीलिए ்ி்்ி்ி்ி் जनता का पैसा है, और आगे बढ़ें जाने की।

राज की बात है. पहले स्तर पर। संकट के समय स्थिति खराब होने पर भी स्थिति खराब होती है। वर्ग वर्ग स्तर पर है.  ; ये आखिरी बार ऐसा करने में मदद करेगा। सरकारी अथारिटी और लोगों के बीच में। जन जागरण के साथ के साथ ये सुविधा तो शुरू होगी ही जैसे कि केंद्र और प्रांतों के लिए संदेश के स्थान के लिए रैंक और कौशलता से कदम उठाने के लिए,

साथ ही कोविड काल में लोगो के कामकाज। लोगों को सेहत के साथ-साथ लोगों को खाने की कमी न हो, इसके लिए मोदी सरकार ने देश के खाद्यान्नों के भंडार खोल दिए हैं। हर माह गरीब कल्याण अन्य योजना के तहत दो बार गरीबों को अनाज मुहैया कराया जा रहा है। लोगों को अनाज मिलता रहे, यह सुनिश्चित कराने के लिए जनप्रतिनिधियों की ड्यूटी लगाई जा रही है। सुनिश्चित ये है कि मोदी… राज्य सरकार ने पांच, 10 और 15 स्थिति केशपवाये हैं। मानव मोदी और योगी की फोटो है। I ."टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;"><एक शीर्षक ="राज की बात: मेमो विस्फोट के लिए नीति, 'मो' जैसा अक्श में प्रकाशित होने की स्थिति में" href="https://www.abplive.com/news/india/raaj-ki-baat-strategy-made-to-give-competition-to-pm-modi-opposition-trying-to-create-a-modi-like- अक्ष-1948341" लक्ष्य ="">राज की बात: मोडी को विस्फोट के लिए मनोविकार, ‘मोदी’ अक्श की तरह प्रोबेशन की प्रोबेशन में ओशन

Related Articles

Back to top button