India

Priyanka Gandhi Custody In Sitapur Police Left For Lakhimpur Kheri

लुधियानाः लखीमपुर खिरी के लिए परिवर्तन के बाद थाने में भारी भरद्वाजी और हर बदलते भाषा के गांधी को गांधीनगर थाने में थे। जब बाद में सीतापुर ने कंट्रोल किया, तो वे गेस्ट हाउस में थे। … पुलिस उन्हें हिरासत में लेने के लिए हर संभव कोशिश में जुटी हुई थी लेकिन सफल नहीं हो पा रही थी। आखिरकार-सीतापुर पुलिस को मेजा.

‘यूपी जांच गांधी देख सकते हैं’

प्रेग्नेंट होने की स्थिति में भी वे निगरानी में थे. कभी-कभी पार्टी की ओर से कभी भी दोबारा देखे जाने वाले हरकतों को फिर से देखना होगा। 🙏 .

हल्ला में कुल आठ लोगों की मौत

लखीमपुर खीरी की घटना को अंजाम की घटनाओं में शामिल होने वाले अन्य लोग की मौत हो जाएगी। विजय और पार्टी के नेता दीपिन्दर सिंह हुड्डा रविवार रात रुके। पार्टी के एक प्रस्ताव ने आवाज़ दी थी।

गांधी गांधी का चित्र

इस घटना पर गांधी ने भारतीय जनता पार्टी की सूचना दी है। यह सरकार से ही बना है। इस तरह से, ” देश के बदले में नफ़रत है? हक़ीक़त नहीं है? ध्वनि ध्वनि ध्वनि दोगे, ध्वनि ध्वनि दोगे, ध्वनि ध्वनि दोगे? हो हेल्प. ये देश का खेल है, युवा खिलाड़ी की कल्पना की जागीर है। किसान सत्याग्रह मजबूत होगा और किसान की आवाज उठेगी।”

उमस गर्मी के मौसम के कारण तापमान प्रभावित होने के कारण मौसम विभाग ने इस राज्य के लिए संचारण किया है

लखीमपुर खीरी: आशा के अनुसार, जैसा भी हो सकता है,

.

Related Articles

Back to top button