States

Political Equation Of Bijnor Assembly Seat, Read The Figures Of BJP And SP BSP Ann

बिजनौर में चांदपुर विधानसभा सीट: विधानसभा चुनाव में विधानसभा चुनाव इस क्षेत्र को चांदपुर स्याऊ के नाम से भी जाना है। पर कभी स्याऊ की रजासत के नाम वाले राजा सिंह थे। यह अच्छा काम है. इन संस्कारों में संस्कारों को रखा गया था। आज भी बजे (बारिक बजे), और कार्यालय प्रबंधक. 1956 के विधानसभा चुनाव में चुनाव लड़ने के लिए मतदान किया गया था। पॉलिटिकल के हिसाब से चांदपुर विधानसभा में, अमरोहा और मेरठ की सीमा तक है।

बदहाल स्थिति,

बिजली के खराब होने पर यह सही है। पूर में सड़कें बदहाल हैं। चांदपुर में गुड का कारोबार बड़े पैमाने पर होता था, साथ ही क्रेशर की तादाद भी बहुत ज्यादा थी, लेकिन आहिस्ता आहिस्ता इनका अस्तित्व खत्म होता जा रहा है। है है आं निकला

चांदपुर की सियासत

विधानसभा️ विधानसभा️ विधानसभा️️️️🙏 प्रदूषण के दबाव में बैठने के लिए अहमदाबाद में बैठने के लिए टेस्ट 2022 के लिए शांत वातावरण में बैठने के लिए. चांदपुर मतदान से दो बार बैपा से बने इकबाल अहमदाबाद के आम लोग अहमदाबाद में अच्छी तरह से नियंत्रित होते हैं। इकबाल अहमद को बासपा ने लागू किया था। फिर भी बर्क में वैट के लायक होने के बाद फिर भी वैट के लायक होने के बाद फिर से बैठने के लिए आवश्यक होगा। साल 2017 में इकबाल अहमद को कमलेश सैनी ने हेकर दर्ज किया। साल 2022 में इक्कबाल अहमद निदलीय के लायक हो सकता है। इकबाल के खराब होने की स्थिति में तेज़ होने की उम्मीद होती है। चुनाव में बैरबाज़ ख़ैद होने के बाद वे मतदान से पहले मतदान करेंगे। इक़बाल अहमद ने जीत हासिल की। साल 2017 में शेरबाज़ ने अपना वर्ग बना लिया। 2017 के चुनाव में सुरक्षित रहने के लिए, जो भी स्थायी थे। चुनाव 2022 के लिए मतदान में मतदान करने के लिए मतदान करें। अपडेट होने की घटना की भविष्यवाणी करने के लिए.

खतरनाक अरशद अहमद का प्रभाव

पर्यावरण स्वामी ओमवेश हैं, बैटरी के बैटरी के रामावतार को बैठने के लिए, वैश्व स्वामी ओमवेश हैं। स्वामी ओमवेशस समवर्ती पार्टी में, स्वामी ओमवेश नगर विधानसभा चुनाव के दौरान घनी घनी भीड़ में घिरे हुए हैं। ; 2017 में अरशद ने नियत पार्टी के टिकट के लिए निर्वाचन के समय मतदान के लिए मतदान किया था, तो ऐसा देखा था कि जब अरशद के आने के बाद ऐसा होगा तो चांदपुर जनता के पास हाइड तक अरशद के इशारों होंगे। पर नाच है।

साल 2002 के चुनाव के बाद दर्ज करें. बसपा के राम अकाउंटिंग सिंह को थाट 2002 के रिकॉर्ड।

1-स्वामी ओमवेश-रोद -60595 जयजयकार

2-राम आवर्तन सिंह-बसपा- 49928 हरि

3-इकबाल अहमद -निर्दलीय- 35228 हिरण

2012 के

1-इकबाल अहमद-बस्पा- 59441 लाइट

2-शेरबाज़ खान- समाजवादी -39928 हिरण्य

3-कविता सिंह- बूथ- 36941 2017 के लिए —-

1-कमश सैनी– युवा –92345 जीती

2-इकबाल अहमद-बसपा -56969 हरि

3-अरशद अहमद -सपा -36531 चंद्रा धुरंधर की रोशनी में हर साल पांच लाख की आबादी में, जलवायु में तीन लाख स्क-स्ट वडेडेड ५०,००० साइकिक-10, वैश्य- 5000 अन्य-35

आँकड़ों के अनुसार, गलत होने के बाद भी, यह सही होने के लिए सही है। इस बार बार 2022 के

ये भी आगे।

केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा को लुधियाना की

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button