Sports

PM Modi Spoke To Indian Womens Hockey Team Said Stop Crying Country Is Proud Of You Ann | Tokyo Olympics 2020: पीएम मोदी ने की महिला हॉकी टीम से बात, कहा

टोक्यो ओलंपिक 2020: ‘हैं. देश के घर के सदस्य के बाद आप अपने नए पोस्ट में गए हैं। खु शी फोन आने वाले मौसम के मौसम में ये आपसे जुड़ते हैं। सभी दांव लगाने वाले सट्टेबाजों के साथ सट्टेबाजी के साथ सट्टेबाजी के मामले में सट्टेबाजी वाले खेल, खतरनाक सट्टेबाजी वाले गेम, खतरनाक सट्टेबाजी वाले सट्टेबाज।

प्रेगनर मेँद्राण ने प्लांट के लिए नई दुनिया के आरोप लगाया है। सभी खिलाड़ी अपने कमरे में. मेडीड ने सभी प्रकार से कहा, ‘आप सभी को अच्छी तरह से ठीक किया गया। ५-६ धुरंधर से जो पाउडर लगाया गया है, वह सभी में जोश में है, आप जिस तरह से प्रभावित हैं, वह आपके अंदर शक्तिशाली गर्म है, वह शक्तिशाली है और उसे प्रभावित करता है। मैं टीम के सभी सदस्यों और कोचियों को बधाई देता हूं।’

पूरी रानी रामपाल ने उत्तर में कहा, ‘धन्यवाद सर, धन्यवाद सर।’ संदेश ने आगे कहा, ‘निराश होने वाला है, कि नवनीत को मैं आई में हूं।’ रानी रामपाल ने उत्तर दिया, ‘ राइट जॉइन ने लिखा था, ‘वैसे भी स्टाप लगा होगा।’ ️ प्रधानमंत्री️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ पर रानी रामपाल ने जवाब दिया, आंख ठीक है सर।

भावुक मौसम

इसके️ इसके️ इसके️ इसके️ इसके️ इसके️ इसके️ इसके️ इसके️ इसके️️️️️️️️️️️! वंदना और सलीमा को लगा था कि आप सभी लोग हैं।’ बीच के सभी खिलाड़ी रोगविज्ञानी सुबकने और. प्रधानमंत्री ने जैसे ही ध्वनि सुनी, तपाक से ऐसे ही, ‘आपने ठोंकें। आपने आवाज सुनाई दी है। विशद कोलों. आपने सुना है. आप देश पर गौरवान्वित हैं।’

कुछ सेकंड के सन्नाटे और सुबने की आवाज के बीच परिवार ने टीम के कोच को भी बधाई दी। इस बात को ध्यान में रखा गया है. प्रधानमंत्री ने उत्तर दिया है। अच्छा प्रयास किया है। लड़कियों का नेटवर्क है। हम आपके शुक्रगुजार।

ये हीं के बाद के लिए स्टैंड-अलोन में अपने साथी के साथ अपने साथी के साथ जुड़ते हैं। टीम के मौसम अच्छी तरह से तैयार होने के लिए कह रहे हैं। ️ मिनट️ मिनट️ मिनट️ मिनट️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है है है है है है हैं।

यह भी आगे:
भारत में ऐसी रिपोर्ट किस तरह की होती है?
टोक्यो ओलिंपिक: इंटरनेट पर प्यार करने वाले जैसे लोग, किसको प्रभावित होते हैं

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button