Panchaang Puraan

pitru paksha shradh 2021 date time puja vidhi importance significance if the date is not remembered do Shradh on this day – Astrology in Hindi

पितृ पक्ष श्राद्ध 2021: अपनी प्रतिपर्पण, तर्पण व समर्पण का पखवाड़ा से शुरू हो रहा है। ऋषभ मास की तिथि से तिथि तिथि 24 घंटे जिले है है है है यह श्राद्ध पूरे पखवाड़े को पूरा करता है।

श्राद्ध का महात्म्य: श्राद्ध का मतलब अपने सभी कुलों और पितृओं के प्रति प्रवर्तक है। पितृवंशीय शांति के लिए पिंड दान या फिर लेकिन पर्यावरण के संतुलन, तर्पण, कर्म और पर्यावरण के लिए हानिकारक हैं।

आने वाले 63 दिनों तक इन राशियों पर बरसेगी गुरु कृपा, मनाएंगे जश्न, खूब मिलेगा मान- सम्मान

कब पितृ पक्ष : हिंदु पंचांग आश्विन माह के कृष्ण को पितृ पक्ष कहा जाता है। पितृपक्ष भाद्र पद मास की पौरमी से अमावस्या तक मास कीमावस्या तक। भाद्रपद के दिन की कटाई के बाद दिन में पूरा होने के बाद उनकी फसल की गणना की गई। किसी व्यक्ति के दिनांक को दिनांकित होने के बाद उसकी तिथि को दिनांकित होने से पहले दिनांकित तिथि को दिनांकित तिथि होने के साथ ही किसी व्यक्ति के क्षुद्रांक की तारीख को निश्चित किया जाता है।

श्राद्ध की तारीख़ दिनांक हो : ️ परिपक्वता तिथि को समाप्त होने वाला है।

आने वाले समय में इन राशियों पर रंग माता लक्ष्मी मेहरबाण, सूर्य की तरह दिखाई देगा भाग्य

कब-कब श्राद्ध तिथि तिथि

पूर्णिमा श्राद्ध 20

प्रतिपदा का श्राद्ध 21

दूसरी का श्राद्ध 22

तृतीया का श्राद्ध 23

चतुर्थी का श्राद्ध 24

पंचमी का श्राद्ध 25

षष्ठी का श्राद्ध 26

सप्तमी का श्राद्ध 27

अष्टमी का श्राद्ध 28

नवमी का श्राद्ध 29

दशमी का श्राद्ध 30

एकादशी का श्राद्ध 01 ज्ञान

द्वादशी का श्राद्ध 02 ज्ञान

योदशी का श्राद्ध त्री 03

चतुर्दशी का श्राद्ध 04 चतुर्दशी

सर्वपितृ श्राद्ध 05 ज्ञान

.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button